पीपीएफ़ पर ब्याज दर में कटौती

भारती रुपया इमेज कॉपीरइट Reuters

सरकार ने पब्लिक प्रोविडेंट फ़ंड (पीपीएफ़) और किसान विकास पत्र जैसी छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में कटौती की है.

पीपीएफ़ पर अब एक अप्रैल से 30 जून तक के दौरान 8.7 के बजाय 8.1 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलेगा.

किसान विकास पत्र में इसी दौरान 8.7 प्रतिशत की जगह 7.8 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलेगा.

हालांकि पोस्ट ऑफ़िस सेविंग स्कीम पर पहले की तरह ब्याज दर चार प्रतिशत ही रहेगी.

इमेज कॉपीरइट Reuters

पांच साल की राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (नेशनल सेविंग सर्टिफ़िकेट) योजना की ब्याज दर पहली अप्रैल से 8.5 प्रतिशत की जगह 8.1 प्रतिशत कर दी गई है.

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (सीनियर सिटीज़न सेविंग स्कीम) पर ब्याज दर 9.3 प्रतिशत की जगह 8.6 प्रतिशत कर दी गई है.

16 फ़रवरी को सरकार ने ऐलान किया था कि वो छोटी बचत योजनाओं में ब्याज दर को मार्केट रेट के नज़दीक लाने की कोशिश करेगी.

साथ ही सरकार ने ये भी स्पष्ट किया था कि हर तीन महीने पर ऐसी योजनाओं की ब्याज दरों की समीक्षा की जाएगी.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार