असम: मुख्यमंत्री गोगोई के ख़िलाफ़ एफ़आईआर

इमेज कॉपीरइट dilip sharma

असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के ख़िलाफ़ मंगलवार को चुनाव आयोग ने आचार संहिता उल्लंघन करने के एक मामले में प्राथमिकी दर्ज की गई है.

दरअसल मुख्यमंत्री ने मतदान के दिन एक संवाददाता सम्मेलन का आयोजन किया था.

आयोग ने मुख्यमंत्री गोगोई द्वारा सोमवार को मतदान से पहले संवाददाता सम्मेलन करने को आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करार देते हुए उनके ख़िलाफ़ प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया था.

इमेज कॉपीरइट Dilip Sharma

चुनाव आयोग के निर्देश के बाद ज़िला उपायुक्त ने मुख्यमंत्री गोगोई के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कर ली है और इसकी पुष्टि भी कर दी है. इस तरह के उल्लंघन के मामले में कार्रवाई की जा सकती है.

जनप्रतिनिधित्व कानून की धारा 126 के तहत जुर्म साबित होने पर दो साल की जेल या फिर जुर्माना या दोनों हो सकते है.

उप चुनाव आयुक्त संदीप सक्सेना के अनुसार असम में चुनाव अधिकारियों ने गोगोई से कहा था कि चुनाव संपन्न होने के 48 घंटे पहले संवाददाता सम्मेलन करना उचित नहीं था.

इमेज कॉपीरइट Dilip Sharma

यह जन प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है क्योंकि इससे मतदाता प्रभावित हो सकते हैं.

वहीं एक शिकायत की जांच पड़ताल के बाद आयोग ने बीजेपी नेता हिमंत विश्व शर्मा द्वारा मतदान शुरू होने के 48 घंटे के भीतर चुनावी रैली करने की बात को गलत पाया.

मुख्यमंत्री गोगोई कई मौकों पर कथित तौर पर चुनाव आयोग पर पक्षपात करने का आरोप लगा चुके है.

असम में सोमवार को दूसरे और आख़िरी चरण के तहत विधानसभा की 61 सीटों के लिए वोट डाले गए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार