हज़ारीबाग में सांप्रदायिक हिंसा के बाद कर्फ़्यू

हज़ारीबाग हिंसा इमेज कॉपीरइट NIRAJ SINHA

रामनवमी जुलूस के तीसरे दिन रविवार को हुए सांप्रदायिक हिंसा के बाद हज़ारीबाग में धारा 144 लागू कर दी गई है.

स्थिति नियंत्रण से बाहर हो जाने के बाद शाम को वहां कर्फ्यू लगा दिया गया है.

उपायुक्त मुकेश कुमार ने बताया कि अनिश्चितकालीन कर्फ़्यू लगाया गया है पर सुबह हालात की समीक्षा की जाएगी.

कंट्रोल रूम खोले गए हैं और साथ ही सभी संवेदनशील इलाक़ों में रैपिड एक्शन फोर्स की तैनाती की गई है.

रैपिड एक्शन फ़ोर्स के अतिरिक्त जवानों को रांची से हज़ारीबाग भेजा गया है.

इमेज कॉपीरइट NIRAJ SINHA

रविवार को ग्वाला टोली मेन रोड से रामनवमी का जुलूस निकल रहा था और सैकड़ों लोग सड़कों पर मौजूद थे. तभी जुलूस पर पथराव हुआ और दो गुट आपस में भिड़ गए.

एसपी अखिलेश झा के मुताबिक़ कई पुलिसकर्मी और नागरिक घायल हैं, जिनमें कुछ की हालत गंभीर है.

पुलिस के मुताबिक़ दो गुटों के बीच हिंसक झड़प शुरू हुई थी, जिसके बाद दर्जन भर घरों, दुकानों और गाड़ियों में आग लगा दी गई.

एक व्यक्ति के मारे जाने की ख़बर पर एसपी ने कहा है कि वह मामला सांप्रदायिक नहीं है.

हज़ारीबाग के एसपी अखिलेश झा ने बताया कि शहरी इलाक़े में पुलिस की तैनाती बढ़ा दी गई है.

इमेज कॉपीरइट NIRAJ SINHA

फिलहाल उपायुक्त मुकेश कुमार और पुलिस अधीक्षक अखिलेश झा समेत कई वरिष्ठ अधिकारी मौक़े पर कैंप कर रहे हैं.

इससे पहले शुक्रवार को हुई हज़ारीबाग के ग्रामीण इलाके में हुई हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हुई थी.

हज़ारीबाग के अलावा बोकारो में भी रामनवमी जुलूस के रास्ते के विवाद के बाद हिंसा हुई थी और कर्फ़्यू लगाया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार