कोर्ट में महिला की गोद में बम फूटा, 3 घायल

 सिविल कोर्ट परिसर इमेज कॉपीरइट Vikas Kumar

बिहार के छपरा शहर स्थित सिविल कोर्ट परिसर में सोमवार सुबह हुए बम धमाके में तीन लोग घायल हो गए.

सारण जिले के एसपी पंकजु कमार राज ने बीबीसी से फ़ोन पर बातचीत में घटना की पुष्टि की.

उन्होंने बताया, ''सुबह क़रीब नौ बजे की यह घटना एक आत्मघाती हमला नहीं है. खुशबू कुमारी नाम की महिला गवाहों को निशाना बनाने के लिए कोर्ट परिसर में बम लेकर आई थी. लेकिन हमला करने के पहले ही उसके पास रखा बम फट गया. इसमें खुशबू समेत तीन लोग घायल हुए हैं.''

एसपी के मुताबिक खुशबू कुमारी की स्थिति गंभीर है. उन्हें बेहतर इलाज के लिए पटना के सरकारी अस्पताल पीएमसीएच भेजा गया है.

पुलिस के मुताबिक़ खुशबू कुमारी शायद पूर्व सांसद उमाशंकर सिंह के घर पर हुई घटना के गवाहों को निशाना बनाने के मकसद से बम लेकर आई थीं. साल 2011 में हुई इस घटना में तीन लोग मारे गए थे.

इमेज कॉपीरइट Vikas Kumar

पुलिस के मुताबिक़ खुशबू खुद भी दो मामलों में अभियुक्त हैं और फिलहाल ज़मानत पर हैं.

वहीं छपरा कचहरी में वकालत करने वाले राजीव कुमार सिंह ने बीबीसी को बताया की धमाका सुबह क़रीब नौ बजे हुआ.

उन्होंने बताया कि एक महिला सिविल कोर्ट की पुरानी बिल्डिंग में बैठी थी. इस दौरान वहां धमाका हुआ.

धमाके में कोर्ट की बिल्डिंग की खिड़कियों के शीशे टूट गए.

बिहार में बीते करीब सवा साल में कोर्ट परिसर में हुई दो बड़ी घटनाएं हुई हैं.

11 अप्रैल को मुजफ्फरपुर कोर्ट परिसर में एक विचाराधीन कैदी की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी और 23 जनवरी, 2015 को आरा में सिविल कोर्ट परिसर में हुए धमाके में दो लोग मारे गए थे और कई घायल हुए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार