कैसे हुई 'शक्तिमान' की मौत?

इमेज कॉपीरइट Raju Gusain

मार्च महीने में बीजेपी के प्रदर्शन के दौरान घायल देहरादून पुलिस के घोड़े 'शक्तिमान' की मौत हो गई है.

इस घोड़े को अमरीका से आया कृत्रिम पैर लगाया गया था.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शिवानंद दाते ने बीबीसी को बताया कि बुधवार को इस घोड़े के घायल पैर की पट्टी बदली जानी थी और इसके लिए उसे एनस्थीसिया (बेहोश करने के लिए) दिया गया था.

इससे घोड़े को शॉक लगा और फिर वो नहीं उठा.

मार्च महीने में इस घोड़े को कथित तौर पर एक बीजेपी विधायक ने ज़ख़्मी किया था. उन्हें गिरफ़्तार भी किया गया लेकिन विधायक गणेश जोशी बाद में ज़मानत पर छूट गए थे.

उत्तराखंड बीजेपी के अध्यक्ष अजय भट्ट ने शक्तिमान के लिए सरकार पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है.

इससे पहले, शक्तिमान के पैर को आपातकालीन जीवन रक्षक सर्जरी में काटना पड़ा था.

इमेज कॉपीरइट pti

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक बीएस सिद्धू ने पैर काटने के फ़ैसले पर कहा था कि घोड़े के घायल पैर में ख़ून का पहुंचना बंद हो गया था और ऐसी हालत में अगर तत्काल टांग नहीं काटी जाती तो घो़ड़े में गैंगरीन फैल जाता.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार