इशरत 'मुठभेड़', 'मोदी-शाह को बचाने की कोशिश'

आनंद शर्मा (फाइल फोटो) इमेज कॉपीरइट PIB

कांग्रेस ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को इशरत जहां इंकाउंटर मामले में बचाने की कोशिशें हो रही हैं.

दिल्ली में की गई एक प्रेस कांफ्रेस में कांग्रेस के नेता आनंद शर्मा ने कहा कि जब इस मामले में चार्जशीट दायर हो चुका है तो इस दिशा में अदालत में मुक़दमा चलना चाहिए जो कि अब तक नहीं चला है और पिछले कुछ दिनों से मामले को बंद करने और किसी तरह से दोषियों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है.

वहीं मशहूर वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि अगर अदालत में सुनवाई शुरू होती है तो मोदी और शाह को ओरोपी के तौर पर समन भेजा सकता है.

आनंद शर्मा ने कहा कि सरकार आपको कल से संसद शुरू होने के साथ कठघरे में मिलेगी. सरकार के ख़िलाफ़ उठाने के लिए बहुत से मुद्दे हैं.

इमेज कॉपीरइट PTI

सिब्बल ने कहा मामले में जो अभियुक्त ज़मानत पर बाहर आए हैं, उन्हें पुलिस के डायरेक्टर जनरल का प्रभार दिया जा रहा है.

पिछले दिनों कथित इशरत जहां मुठभेड़ मामले के अभियुक्त वरिष्ठ आईपीएस पीपी पांडे को गुजरात पुलिस का प्रभारी महानिदेशक बनाया गया है.

उन्होंने कहा कि इशरत जहां चरमपंथी थी कि नहीं, इसका फैसला कोर्ट को करने दें. मजिस्ट्रीयल, एसआईटी और सीबीआई ने अपनी जांच में इसे फ़र्ज़ी इंकाउंटर बतलाया है.

कपिल सिब्बल ने मांंग की है कि मामले की सुनवाई अगले छह महीने में पूरी की जाए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार