अफ़सर के घर में 2 किलो सोना, 54 एकड़ ज़मीन

भारतीय मुद्रा इमेज कॉपीरइट Reuters

आंध्र प्रदेश के एक अफ़सर के क़ब्ज़े से दो करोड़ 30 लाख रुपए की प्रॉपर्टी मिली है.

यह अफ़सर अदिमुलम मोहन परिवहन विभाग में डिप्टी ट्रांसपोर्ट कमिश्नर हैं और पूर्वी गोदावरी ज़िले में तैनात हैं.

आंध्र प्रदेश में भ्रष्टाचार निरोधी शाखा (एसीबी) ने छापेमारी की कार्रवाई के बाद इस अफ़सर को गिरफ़्तार कर लिया है.

स्थानीय मीडिया ने पहले रिपोर्ट किया था कि छापेमारी में सैकड़ों करोड़ रुपए की संपत्ति ज़ब्त की गई लेकिन एसीबी के महानिदेशक एम मलाकोंडैया ने बीबीसी से बातचीत में ऐसी रिपोर्टों को ख़ारिज किया.

उनका कहना था, "अलग-अलग समाचार माध्यमों में ज़ब्त संपत्ति की क़ीमत अलग-अलग बताई जा रही है. 50 करोड़ से लेकर हज़ार करोड़ तक का आकलन किया जा रहा है, लेकिन यह सही नहीं है."

उन्होंने बताया, "अभी संपत्ति की जाँच हो रही है, लेकिन जो आकलन हुआ है उसके मुताबिक़ अभी तक हमने कुल दो करोड़ 30 लाख की संपत्ति ज़ब्त की है."

बीबीसी को ईमेल के ज़रिए भेजे बयान में एसीबी महानिदेशक की ओर से बताया गया है, "52 वर्षीय अदिमुलम मोहन के ख़िलाफ़ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया गया."

इमेज कॉपीरइट

बयान के मुताबिक़ एसीबी ने मोहन और उनके परिवार के काकीनाडा स्थित घर समेत अलग-अलग शहरों में आठ ठिकानों पर छापा मारा.

इस दौरान प्रकाशम, हैदराबाद और नैल्लोर ज़िलों में 54.5 एकड़ ज़मीन, अलग-अलग शहरों में कई प्लॉट, हैदराबाद में फ़्लैट, दो किलो सोने के आभूषण, पाँच किलो चांदी समेत कुल 2.30 करोड़ रुपए की संपत्ति अभी तक मिली है.

साथ ही 83 हज़ार रुपए कैश, बैंक खाते में तीन लाख रुपए और फ़िक्स डिपॉज़िट में चार लाख रुपए भी मिले, जबकि उनके कई अन्य बैंक खातों और लॉकरों की तलाशी होना बाक़ी है.

इस मामले में एसीबी की जाँच जारी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार