जनसंघ के पूर्व नेता बलराज मधोक नहीं रहे

बलराज मधोक इमेज कॉपीरइट pib

भारतीय जनसंघ के पूर्व अध्यक्ष बलराज मधोक का निधन हो गया है. वो 96 साल के थे.

केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने ट्वीट किया कि भारत ने एक महान बुद्धिजीवी, विचारक और सामाजिक कार्यकर्ता खो दिया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बलराज मधोक के निधन पर शोक व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि “उनकी विचारधारात्मक प्रतिबद्धता मज़बूत और उनके विचार सुलझे हुए थे. साथ ही वे राष्ट्र और समाज के प्रति नि:स्वार्थ भाव से समर्पित थे.”

ग़ौरतलब है कि 1973 में पार्टी से निकाले जाने के बाद वो लालकृष्ण आडवाणी और अटल बिहारी वाजपेयी के घोर आलोचक रहे थे.

उनका जन्म 1920 में पाक-प्रशासित कश्मीर के बलटिस्तान में हुआ था. उनका बचपन गुजरांवाला (अब पाकिस्तान) में गुज़रा. उन्होंने जम्मू, श्रीनगर और लाहौर में पढ़ाई की.

1938 में वो आरएसएस में शामिल हो गए. भारत की आज़ादी के बाद वो दिल्ली आ गए और 1951 में उन्होंने आरएसएस के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) का गठन किया.

इसके बाद उन्होंने श्यामा प्रसाद मुखर्जी के साथ मिलकर भारतीय जनसंघ का गठन किया और 1966-67 में इसके अध्यक्ष बने.

इस बीच 1961 में वो दिल्ली से जीतकर लोकसभा पहुंचे. 1967 के लोकसभा चुनाव में जनसंघ ने उनके नेतृत्व में 35 सीटें जीती जो उस समय तक का पार्टी का सबसे बेहतरीन चुनावी प्रदर्शन था.

लेकिन 1973 में उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया. उसके बाद से वो लगातार हाशिए पर रहे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार