एमए के बाद बीए और मोदी की जन्मतिथि पर विवाद

नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट AFP

नरेंद्र मोदी सरकार में मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी की डिग्री को लेकर जैसा विवाद हुआ था, कुछ वैसा ही विवाद अब प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी की शिक्षा और जन्म की तारीख़ को लेकर खड़ा हो गया है.

इस बारे में पिछले सात साल से कई आरटीआई कार्यकर्ताओं ने गुजरात यूनिवर्सिटी से जानकारी मांगी थी लेकिन उन्हें जानकारी नहीं मिल पाई.

बाद में केन्द्रीय सूचना आयोग के निर्देश पर गुजरात यूनिवर्सिटी ने नरेंद्र मोदी की डिग्री की जानकारी सावर्जनिक करते हुए मोदी की मास्टर्स डिग्री के बारे में जानकारी सार्वजनिक कर दी. लेकिन इसके बाद दो नए विवाद खड़े हो गए हैं.

अब गुजरात कांग्रेस की तरफ़ से ये सवाल पूछा जा रहा है कि नरेंद्र मोदी ने स्नातक की डिग्री कहां से ली और उनके जन्म का साल कौन सा है.

गुजरात कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शक्ति सिंह गोहिल ने बीबीसी से कहा, "कई सालों से गुजरात के आरटीआई कार्यकर्ता गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री और देश के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में जानकारी लेने के लिए आरटीआई डालते आ रहे हैं, लेकिन हर बार आईटीआई अधिकारी इसे निजी जानकारी बताकर टालते रहे हैं."

गोहिल ने कहा, "केन्द्रीय सूचना आयुक्त के आदेश के बाद गुजरात यूनिवर्सिटी ने बताया कि नरेंद्र मोदी ने 1983 में राजनीति विज्ञान विषय में मास्टर्स डिग्री ली. लेकिन मोदी ने मास्टर्स में दाख़िले के वक्त स्नातक का प्रमाणपत्र किस यूनिवर्सिटी का दिया, ये नहीं बताया जा रहा है. चुनाव आयोग में दिए हलफ़नामे के दस्तावेज़ों के मुताबिक नरेंद्र मोदी ने 1967 में एसएससी पास की. 1978 में दिल्ली विश्वविद्यालय से बीए पास किया और 1983 में गुजरात से मास्टर्स की डिग्री ली थी. लेकिन आज तक किसी ने उनका स्नातक का प्रमाणपत्र नहीं देखा है और इस मामले में गुजरात यूनिवर्सिटी भी कुछ नहीं बोल रही है."

Image caption नरेंद्र मोदी का स्कूल लीविंग सर्टिफ़िकेट.

गोहिल ने एक और मुद्दा उठाते हुए कहा, "चुनाव आयोग के दस्तावेज़ के अनुसार नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 में हुआ था. लेकिन जहां से मोदी ने स्कूली शिक्षा हासिल की, गुजरात के उस वीसनगर के एमएन स्कूल के दस्तावेज़ के अनुसार मोदी की जन्म की तारीख़ 29 अगस्त 1949 है. इन दोनों में से मोदी के जन्म की कौन सी तारीख़ सही है ये जानकारी नरेंद्र मोदी को ही देनी चाहिए."

गुजरात के आरटीआई कार्यकर्ता रोशन शाह ने बीबीसी को बताया कि वे 2013 से ही नरेंद्र मोदी की शिक्षा और उनकी आय वगैरह को लेकर आरटीआई डालते रहे हैं, लेकिन जवाब नहीं मिलता है. उन्होंने कहा कि पिछले सात सालों में मोदी को लेकर गुजरात में 70 से अधिक आरटीआई डाली गई हैं.

नरेंद्र मोदी की जन्मतिथि को लेकर गुजरात कांग्रेस के आरोपों को गुजरात भाजपा के प्रवक्ता भरत पंड्या ने सिरे से ख़ारिज किया.

बीबीसी से बात करते हुए उन्होंने कहा, "हेलीकॉप्टर खरीद घोटाले में कांग्रेस की हो रही किरकिरी के बाद पार्टी हाई कमान की तरफ़ से गुजरात कांग्रेस पर दबाव डाला गया था कि हेलीकॉप्टर कांड से लोगों का ध्यान हटाने के लिए नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाए जाएँ और ये सब उसी क़वायद का नतीजा है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार