उत्तराखंड: रावत मुख्यमंत्री की कुर्सी पर वापस

हरीश रावत. इमेज कॉपीरइट PTI

उत्तराखंड विधानसभा में मंगलवार को हुए शक्ति परीक्षण में हरीश रावत ने बहुमत हासिल कर लिया है.

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर मंगलवार को उत्तराखंड विधानसभा में शक्ति परीक्षण कराया गया था.

इसके नतीजे को एक सीलबंद लिफ़ाफ़े में सुप्रीम कोर्ट में जमा कराया गया था.

इमेज कॉपीरइट SHIV JOSHI

यह लिफ़ाफ़ा बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में खोला गया. हरीश रावत के पक्ष में 33 विधायक थे. फ़्लोर टेस्ट में कुल 61 विधायकों ने मतदान किया था.

भाजपा को 28 विधायकों का समर्थन मिला.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि विधानसभा में मतदान के दौरान कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई. अदालत ने कहा कि अयोग्यता की वजह से नौ विधायक मतदान नहीं कर सके.

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि पिछले महीने उत्तराखंड में लगाया गया राष्ट्रपति शासन हटा लिया जाएगा. अदालत ने इसकी इजाज़त दे दी हैै.

अदालत ने कहा कि राष्ट्रपति शासन हटाए जाने के बाद हरीश रावत राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में वापसी होगी.

कांग्रेस के नौ विधायकों की बग़ावत के बाद केंद्र सरकार ने उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगा दिया था.

इमेज कॉपीरइट EPA

हरीश रावत का बहुमत साबित होने के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी ने बुरा काम किया और हमने अच्छा काम किया. उत्तराखंड में लोकतंत्र की जीत हुई है.

उन्होंने कहा कि उम्मीद करता हूं कि प्रधानमंत्री इससे सबक़ सीखेंगे कि भारत के लोग और हमारे पूर्वजों की ओर से बनाई गई संस्थाएं लोकतंत्र की हत्या को बर्दाश्त नहीं करेंगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार