भाजपा ने इतिहास रचा, दीदी-अम्मा सत्ता में कायम

केरल में जीत का जश्न मनाते वाम कार्यकर्ता.

पांच राज्यों के चुनावों में जहां भारतीय जनता पार्टी ने असम में ऐतिहासिक जीत हासिल की है, वहीं पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी और तमिलनाडु में जयललिता ने लगातार दूसरी बार जीत दर्ज की है.

केरल में वाम मोर्चे ने कांग्रेस को हराकर जीत दर्ज की है जबकि पुड्डुचेरी में कांग्रेस और उसके सहयोगियों को बहुमत मिली है.

असम में पहली बार भाजपा सरकार बनने जा रही है. वहां भाजपा और उसके सहयोगी दलों ने केंद्रीय खेल मंत्री सर्बानंद सोनोवाल के नेतृत्त में चुनाव लड़ा था. कांग्रेस के तरुण गोगोई पिछले 15 साल से सत्ता में बने हुए थे. कुल 126 सीटों में से भाजपा के गठबंधन को 86, कांग्रेस को 26 और एआईयूडीएफ़ को 13 सीटें मिली हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता को बधाई दी.

प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा, ''देशभर में लोगों का भाजपा पर विश्वास बढ़ रहा है. लोग इसे ऐसी पार्टी के तौर पर देख रहे हैं जो चौतरफा और समावेशी विकास कर सकती है.''

इमेज कॉपीरइट Dasrath Deka

वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने हार स्वीकार कर ली है. एक ट्वीट में कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि हम तब तक कड़ी मेहनत करेंगे, जब तक कि हम लोगों का विश्वास और भरोसा नहीं जीत लेते हैं.

केरल में पांच साल बाद वाममोर्चे की सरकार बनेगी. वहाँ 92 वर्षीय सीपीएम नेता अच्युतानंदन के नेतृत्व में वाम मोर्चा ने कांग्रेस के नेतृत्व वाले यीडीएफ़ को हरा दिया है. कुल 140 सीटों में से वाम मोर्चे को 91, यीडीएफ़ को 47, भाजपा को एक और निर्दलीय को एक सीट मिली है.

इमेज कॉपीरइट Dasrath Deka

पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस ने कुल 294 में से 211 सीटें जीती हैं. जहाँ कांग्रेस को 44 सीटें मिली हैं वहीं उसके सहयोगी वाम मोर्चे को 32 और गोर्खा जनमुक्ति मोर्चा को तीन, भाजपा को तीन और निर्दलीय को एक सीट मिली है.

तमिलनाडु में सत्ताधारी एआईएडीएमके ने विधानसभा की 234 में से 134 और डीएमके-कांग्रेस गंठबंधन ने 97 सीटें जीती हैं. एक सीट निर्दलीय ने जीती है और दो पर मतदान स्थगित किया गया था.

पुड्डुचेरी की 30 सदस्सीय विधानसभा में कांग्रेस ने 15 सीटें जीत ली हैं. अन्नाद्रमुक को चार, एआईएनआरसी को 8, डीएमके को दो और निर्दलीय को एक सीट मिली है.

इसके अलावा झारखंड, गुजरात, उत्तर प्रदेश और तेलंगाना की कुछ सीटों पर उपचुनाव कराए गए थे. उत्तर प्रदेश की दोनों सीटें सत्तारूढ़ सपा, गुजरात की दोनों सीटें भाजपा, झारखंड की दो में से एक भाजपा के खाते में गई है और एक पर कांग्रेस आगे है. वहीं तेलंगाना की एक सीट पर तेलंगाना राष्ट्र समिति ने कब्जा जमाया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार