निजी ईमेल्स: जांच में हिलेरी पर उठे सवाल

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी विदेश मंत्रालय की जांच में आरोप लगाया गया है कि हिलेरी क्लिंटन और उनसे पहले भी कई पूर्व अमरीकी विदेश मंत्रियों ने अपने ईमेल्स की सुरक्षा पर ठीक से ध्यान नहीं दिया है.

जांच में इंस्पेक्टर जनरल को पता चला कि हिलेरी क्लिंटन ने इस बारे में नियमों का पालन नहीं किया और आधिकारिक काम के लिए बिना मंज़ूरी लिए निजी ईमेल अकाउंट्स का इस्तेमाल किया.

जांच कहती है कि इस बारे में 'लंबे समय से एक व्यवस्थागत कमज़ोरी' चली आ रही है.

राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक उम्मीदवारी की रेस में आगे चल रहीं क्लिंटन का कहना है कि जांच रिपोर्ट दिखाती हैं कि बतौर विदेश मंत्री वो भी कई पूर्व विदेश मंत्रियों से अलग नहीं रही हैं.

उनकी प्रचार टीम की तरफ़ से जारी बयान में कहा गया है, "कुछ समय से चल रही झूठी बातों के विपरीत रिपोर्ट कहती है कि जब वो विदेश मंत्री थी तो निजी ईमेल के उनके इस्तेमाल के बारे में अधिकारियों को पता था."

जांच के मुताबिक़ ऐसे कोई प्रमाण नहीं है कि उनके निजी ईमेल सर्वर में कोई सेंधमारी हुई है.

हालांकि अमरीकी जांच एजेंसी एफबीआई इस बारे में अभी जांच कर रही है लेकिन अभी तक उसने हिलेरी क्लिंटन से पूछताछ नहीं की है.

क्लिंटन इस बात से इनकार करती हैं कि उन्होंने अपने निजी ईमेल्स में कोई गोपनीय जानकारी या उसका ब्यौरा दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार