घिन आती है तन्मय पर: जावेद अख़्तर

जावेद अख़्तर इमेज कॉपीरइट beena ahuja

गीतकार जावेद अख़्तर ने स्टैंड अप कॉमेडियन और यूट्यूब कॉमेडी चैनल एआईबी के सदस्य तन्मय भट्ट के वीडियो को 'घिनौना और घटिया' बताया है.

इस वीडियो में तन्मय भट्ट ने लता मंगेशकर और सचिन तेंदुलकर का मज़ाक उड़ाया है और दोनों को लेकर जो शब्दावली इस्तेमाल की है, उसकी काफ़ी आलोचना हो रही है.

वीडियो की शिकायतों के बाद मुंबई पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

इमेज कॉपीरइट Tanmay Bhat

जावेद अख़्तर ने बीबीसी से खास बातचीत में कहा, "एआईबी का ये वीडियो बहुत ही बेहूदा और बदतमीज़ है और अफ़सोस की बात की इसमें कोई ह्यूमर भी नहीं है. जिसने भी देखा है कि उसे बहुत ही गंदगी का अहसास हुआ है और ग़ुस्सा ही आया है."

वो कहते हैं, "मैं कभी कभी सोच में पड़ जाता हूँ कि कौन लोग हैं ये जो बड़े बड़े लोगों के नाम लेकर उन पर इस तरह का बेहूदा मज़ाक बनाते हैं. इससे इनको मुफ़्त में शोहरत मिल जाती है."

वो इसे तन्मय भट और एआईबी की सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का हथकंडा मान रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

जावेद अख़्तर के मुताबिक़, "लता मंगेशकर जैसी सम्मानित शख्सियत, जिनकी हिंदुस्तान में हर कोई इज़्ज़त करता है, उनसे मोहब्बत करता है और सचिन तेंदुलकर जो इतने बड़े आइकन हैं, उनके बारे में कोई बेहूदा बात करता है तो यह अजीब लगता है."

तन्मय भट्ट का बचाव करने वाले लोग दलील दे रहे हैं कि अगर आपको कोई चीज़ बुरी लगती है तो आप उसे मत देखिए, उसे बंद कर दीजिए, इस दलील में कितना दम है?

इस पर जावेद अख़्तर का कहते हैं, "यह भी दलील अपनी जगह सही है, लेकिन इसकी आड़ में आप बेहूदा बात करें, बदतमीज़ी करें ये तो ठीक बात नहीं है."

इमेज कॉपीरइट AIB

हालाँकि शिकायत मिलने पर मुंबई पुलिस ने गूगल और सोशल मीडिया की अन्य साइटों को चिट्ठी लिख कर वीडियो को हटाने की मांग की है.

वो कहते हैं, "मुझे तन्मय भट पर घिन आती है. ये ह्यूमर है? इसका मतलब है कि इन लोगों को पता ही नहीं है कि ह्यूमर क्या है?"

तन्मय ने अपने फ़ेसबुक पन्ने पर एक वीडियो 'सचिन बनाम लता सिविल वार' डाला था, जिसमें उन्होंने सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर की नक़ल करते हुए दोनों को लड़ते हुए दिखाया था.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार