'केजरी जैसों को इंटरव्यू में ही छांट देंगे'

भीमसेन बस्सी (फ़ाइल फोटो) इमेज कॉपीरइट EPA

केंद्र सरकार ने दिल्ली के पूर्व पुलिस कमिश्नर भीमसेन बस्सी को यूपीएससी यानी संघ लोक सेवा आयोग का सदस्य नियुक्त किया है.

बस्सी इसी साल फ़रवरी में दिल्ली पुलिस के कमिश्नर पद के रिटायर हुए थे.

दिल्ली पुलिस कमिश्नर के रूप में उनका कार्यकाल चर्चा और विवादों में रहा था. ख़ासतौर पर वे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के नेताओं के निशाने पर रहे.

बस्सी की नियुक्ति की ख़बर आते ही सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर UPSC ट्रेंड करने लगा.

@iMac_too ट्विटर हैंडल से लिखा गया है, “अच्छा. यूपीएससी सदस्य के रूप में वे केजरीवाल जैसों को इंटरव्यू में ही छांट देंगे.”

यूजर मनोज कुमार यादव ने ट्वीट किया, “लो भैया...अब से फोटोशॉप यूपीएससी परीक्षा का मुख्य विषय होगा, आपको जितना अच्छा फोटोशॉप आएगा, आपके चुने जाने के अवसर उतने ही बढ़ जाएंगे.”

नागेंद्र शर्मा ने ट्वीट किया, “बीएस बस्सी को यूपीएससी का सदस्य बनाकर मोदी सरकार सुनिश्चित कर रही है कि जब तक वह सत्ता में है, देश को जेएनयू से पढ़े नौकरशाह नहीं चाहिए.”

केबी बाइजू ने ट्वीट किया, “आख़िरकार बस्सी साहब के लिए थैंक्यू नोट आ ही गया.”

अनिल खन्ना ने ट्वीट किया, “बीएस बस्सी जिनके नाम का इस्तेमाल केजरी ‘माई बेस्ट फ्रेंड’ का निबंध लिखने के लिए करते थे, यूपीएससी के सदस्य नियुक्त हो गए हैं.”

आप नेता आशुतोष ने ट्वीट किया, “बस्सी ने अप्रैल 2015 से यूपीएससी की तैयारी शुरू की और इसे आज पास किया.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)