नरेन्द्र दाभोलकर हत्या मामले में पहली गिरफ़्तारी

डॉ नरेन्द्र डाभोलकर इमेज कॉपीरइट FACEBOOK NARENDRA DABHOLKAR

महाराष्ट्र में अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के डॉ. नरेन्द्र दाभोलकर की हत्या के मामले में सीबीआई ने पहली गिरफ़्तारी कर ली है.

हिंदू जनजागरण समिति के नेता वीरेन्द्र तावड़े को शुक्रवार रात सीबीआई ने पनवेल से गिरफ़्तार किया है.

बताया जा रहा है कि उसे पूछताछ के लिए बुलाया गया था, लेकिन बाद में सीबीआई सूत्रों ने कहा कि उसे गिरफ़्तार कर लिया गया है.

पिछले हफ़्ते सीबीआई ने तावड़े और उसके साथी सारंग अकोलकर के घरों पर छापे मारे थे.

सीबीआई जांच में सामने आया है कि छापेमारी के बाद से ही दोनों गायब थे, लेकिन इसी दौरान दोनों के बीच ईमेल पर सूचना का आदान-प्रदान हुआ था.

तावड़े के सनातन संस्था से भी ऩज़दीकी रिश्ते बताए जाते हैं, उनका घर पनवेल में सनातन संस्था के आश्रम के करीब है.

लिहाज़ा उसकी गिरफ़्तारी को सनातन संस्था के लिए गहरे झटके के तौर पर देखा जा रहा है .

तावड़े को शनिवार को पुणे में सीबीआई अदालत के सामने पेश किया जाएगा.

करीब दो साल पहले डॉ. नरेन्द्र दाभोलकर की पुणे में अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी.

इमेज कॉपीरइट Devidas deshpande

अंधविश्वास और कुप्रथाओं के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने वाले डॉ. दाभोलकर सनातन संस्था और अन्य दक्षिणपंथियों के निशाने पर रहते थे.

उनकी हत्या के मामले में कोई सुराग नहीं मिल पाने से महाराष्ट्र पुलिस की काफ़ी किरकिरी हुई थी.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा सरकार ने जांच सीबीआई को सौंप दी थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार