'समाज के इतिहास का काला दिन'

गुलबर्ग सोसाइटी इमेज कॉपीरइट arko datta

अहमदाबाद की एक विशेष अदालत ने शुक्रवार को गुलबर्ग सोसाइटी मामले में सज़ा का एलान किया.

इस फ़ैसले जुड़ी ख़बरों को दिल्ली से प्रकाशित अंग्रेजी अख़बारों ने प्रमुखता से जगह दी है.

इमेज कॉपीरइट Hindustan TiMES

'हिंदुस्तान टाइम्स' ने इसे अपनी पहली ख़बर बनाया है. ख़बर की सुर्ख़ी कहती है, "गुलबर्ग नरसंहार में 11 को उम्र क़ैद". अख़बार के मुताबिक़ विशेष अदालत ने इस नरसंहार को 'समाज के इतिहास में काला दिन' बताया. इन लोगों को साल 2002 में गुजरात में हुए दंगों के दौरान 69 लोगों की हत्या को लेकर सज़ा सुनाई गई है.

'द इंडियन एक्सप्रेस' ने इसे पहले पन्ने पर दूसरी ख़बर के तौर पर जगह दी है.

अख़बार ने कोर्ट के बयान से हेडिंग दिया है. सुर्खी कहती है, "कोर्ट ने दंगा पीड़ित जाफ़री के बारे में कहा: उनकी गोलीबारी ने भीड़ को नाराज़ किया."

अख़बार के मुताबिक़ कोर्ट ने दोषी ठहराए गए 24 लोगों में से 11 को उम्रक़ैद की सजा सुनाई है.

इमेज कॉपीरइट AFP

'द हिंदू' की लीड भी यही है. अख़बार ने साथ में दंगे में मारे गए एहसान जाफ़री की पत्नी ज़ाकिया जाफ़री का बयान भी लगाया है, जिसमें उन्होंने फ़ैसले पर निराशा ज़ाहिर की है.

'द टाइम्स ऑफ इंडिया' ने भी इस ख़बर को पहले पन्ने पर जगह दी है. अख़बार की हेडलाइन कहती है, 'गुलबर्ग हत्याकांड में किसी को मौत की सज़ा नहीं, 24 दोषियों में से 11 को उम्रक़ैद'

इमेज कॉपीरइट Sangeet Singh Som FB Page

'हिंदुस्तान टाइम्स' की एक ख़बर के मुताबिक़ भारतीय जनता पार्टी के विधायक संगीत सोम ने उत्तर प्रदेश सरकार को कैराना से कथित तौर पर पलायन करने वाले हिंदू परिवारों को वापस लाने के लिए 15 दिन का वक़्त दिया है.

अख़बार के मुताबिक़ बीजेपी ने कैराना गई टीम की रिपोर्ट भी जारी की है और कथित पलायन मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है.

वहीं उत्तर प्रदेश की सत्ताधारी समाजवादी पार्टी ने कहा है कि बीजेपी को कैराना की चिंता छोड़कर 2002 के दंगों के दौरान गुजरात छोड़ने वाले लोगों को वापस लाने पर ध्यान लगाना चाहिए.

'द हिंदू' ने इसे पहले पन्ने की दूसरी ख़बर के तौर पर जगह दी है और बीजेपी की ओर से की गई सीबीआई जांच की मांग को हेडिंग में जगह दी है.

इमेज कॉपीरइट Abid Bhatt

'द हिंदू' की एक और ख़बर के मुताबिक़ जम्मू कश्मीर के अलगाववादियों ने कश्मीरी पंडितों से बातचीत का प्रस्ताव दिया है.

'हिंदुस्तान टाइम्स' ने अपनी एक ख़बर में बताया है कि मानसून की रफ्तार धीमी है और 15 जून तक सामान्य 25 फ़ीसदी कम बारिश हुई है. ख़बर के मुताबिक़ जून के दूसरे हिस्से में अच्छी बारिश होने का अनुमान है.

इमेज कॉपीरइट PTI

'द इंडियन एक्सप्रेस' के मुताबिक़ भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज और पूर्व सांसद चेतन चौहान 'नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फ़ैशन टेक्नॉलॉजी' (एनआईएफटी) के चेयरमैन बनाए गए हैं. अख़बार के मुताबिक़ 68 साल के चौहान डीडीसीए के उपाध्यक्ष हैं. वो बीसीसीआई के भी अधिकारी हैं. एक क्रिकेट एकेडमी चलाते हैं लेकिन उनका कहना है कि उनके पास अपनी सभी 'भूमिकाओं के लिए वक़्त' है.

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीका के ऑरलैंडो के एक नाइट क्लब में हुए हमले के दौरान लोगों को बाहर निकलने में मदद करने वाले भारतीय मूल के एक बाउंसर की 'हीरो' की तरह तारीफ़ हो रही है. 'हिंदुस्तान टाइम्स' ने इस ख़बर को भी पहले पन्ने पर जगह दी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)