'भारत अब भी 1962 में ही फंसा हुआ है'

अख़बारों की समीक्षा

मंगलवार को दिल्ली से छपे अख़बारों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू, उनके मंत्रिमंडल के विस्तार से जुड़ी ख़बरें और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार की गिरफ्तारी की ख़बरें छाई हैं.

इमेज कॉपीरइट Other

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दावा है कि उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में भाजपा को जीत मिलेगी. ‘द पायनियर’ को दिए एक इंटरव्यू में मोदी ने कहा है कि ‘विकास और केवल विकास’ के वादे पर भाजपा चुनाव जीतेगी.

इमेज कॉपीरइट Other

अख़बार में छपी एक अन्य ख़बर के अनुसार दुर्घटना में बुरी तरह से घायल एक व्यक्ति को दिल्ली के अंबेडकर अस्पताल लाया गया था जहां उसकी मौत हो गई. इससे नाराज़ उनके रिश्तेदारों ने अस्पताल में जम कर तोड़फोड़ की. ख़बर के अनुसार पिछले साल जुलाई के बाद से अब तक डॉक्टरों पर हमले होने की 30-40 घटनाएं हो चुकी हैं.

इमेज कॉपीरइट Other

अंग्रेज़ी के अख़बार ‘द स्टेट्समैन’ में छपी एक ख़बर के अनुसार रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा है कि जल्द ही भारतीय सेना में और महिलाओं की भी भर्ती की जाएगी. उन्होंने कहा कि सैनिक स्कूलों और नेशनल डिफेंस अकादमी में महिलाओं की भर्ती के लिए कदम उठाए जा रहे हैं और महिलाओं की एक बटालियन बनाने के बारे में भी विचार किया जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Other

अंग्रेज़ी के अख़बार ‘बिज़नेस स्टैंडर्ड’ में विज्ञापनों पर नज़र रखने वाली संस्था एडवर्टाइजिंग स्टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ़ इंडिया की ख़बर छपी है. ख़बर में आरोप लगाया गया है कि रामदेव के पतंजलि आयुर्वेद के उत्पाद ‘भ्रामक विज्ञापन’ कैंपेन चला रहे हैं और अपने प्रतिद्वंदी उत्पादों को बदनाम कर रहे हैं.

संस्था का कहना है कि कच्ची घानी सरसों तेल, फ्रूट जूस, और जानवरों का खाना दुग्धअमृत के विज्ञापनों में पतंजलि ने अन्य प्रॉडक्ट्स पर ग़लत आरोप लगाए हैं.

इमेज कॉपीरइट Other

'इंडियन एक्सप्रेस' की एक ख़बर के अनुसार, विवादों में घिरी रहीं धर्मगुरू राधे मां पर पिछले साल लगे दहेज अत्पीड़न के आरोप के मामले में दायर हुई चार्जशीट में उनका नाम नहीं है. पुलिस के अनुसार उनके ख़िलाफ़ सबूत न मिलने के कारण अदालत में दायर की गई चार्जशीट में उनका नाम नहीं है.

अंग्रेज़ी के ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ में छपी एक ख़बर के अनुसार चीनी मीडिया का कहना है कि भारत तो जैसे 1962 में ही फंसा हुआ है. चीनी के सरकारी मीडिया का कहना है कि भारत 1962 में हुए भारत चीन युद्ध की मानसिकता से बाहर नहीं निकल पाया है और न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप की सदस्यता न पा सकने पर बीजिंग को दोषी ठहरा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Other

हिंदी अख़बार ‘दैनिक जागरण’ में छपी एक ख़बर के अनुसार उत्तर प्रदेश के कैराना में परचून की दुकान चलाने वाले एक व्यक्ति से एक युवक ने एक लाख रुपए की रंगदारी मांगी और पैसा न मिलने पर जान से मारने की धमका दी है. पुलिस नें फिलहाल इस विषय में शिकायत दर्ज कर ली है और जांच कर रही है.

इमेज कॉपीरइट Other

‘दैनिक भास्कर’ में छपी एक ख़बर के अनुसार राजस्थान के सरदार शहर तहसील के एक गांव में राजकीय सेवा से रिटायर हो रहे एक व्यक्ति के लिए स्वागत समारोह का आयोजन किया गया था. उन्हें घोड़ी पर बिठाकर जश्न मनाया जा रहा था.. इस दौरान कुछ युवकों ने रिटायर्ड अधिकारी को घोड़ी से नीचे उतारकर उनकी जेब से पैसे निकाल लिए. इस पर बात बढ़ी और गांव में पथराव हो गया.

इमेज कॉपीरइट Other

‘अमर उजाला’ ने अपने चौथे पन्ने पर एक चौंकाने वाली घटना छापी है. दिल्ली में संसद भवन से मात्र डेढ़ किलोमीटर दूर काली बाड़ी में एक मां ने अपने मृत बेटे की लाश को चार दिन तक घर में रखा. जब बदबू आने लगी तो पड़ोसियों ने पुलिस को इसकी ख़बर दी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार