BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
शुक्रवार, 15 मई, 2009 को 02:40 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
सहयोगियों की तलाश में जुटे विभिन्न दल
 
मनमोहन सिंह और ममता
कांग्रेस और भाजपा दोनों पार्टियाँ नए सहयोगियों की तलाश में जुट गईं हैं

चुनाव परिणाम आने में एक दिन बाकी है और पार्टियों के रणनीतिकार पुराने सहयोगियों को बांधे रखने और नए सहयोगियों की तलाश में जुट गए हैं.

लोकसभा के खंडित जनादेश की आशंकाओं के कारण इन दलों ने नए सहयोगियों की तलाश तेज़ कर दी है.

साथ ही कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी दोनों को ये डर सता रहा है कि उनके सहयोगी पाला न बदल जाएं.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरुवार को अपने सहयोगियों से मुलाक़ात की और कुछ से फ़ोन से संपर्क किया.

सोनिया ने एनसीपी के प्रमुख शरद पवार और राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू यादव से बात की. उन्होंने लोकतांत्रिक जनशाक्ति पार्टी के राम विलास पासवान से भी मुलाक़ात की.

दूसरी और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने समाजवादी पार्टी के नेता अमर सिंह से फ़ोन पर बात की.

अमर सिंह ने बताया कि दिग्विजय ने उनसे कहा कि चुनावी गहमागहमी में अगर उनकी कोई बात बुरी लगी हो तो उन्हें माफ़ करें.

अमर-राजनाथ की मुलाक़ात

वहीं अमर सिंह और राजनाथ सिंह भी एक सामाजिक समारोह के दौरान मिले और बातचीत की.

गुरुवार को भावी रणनीति तय करने के लिए भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने भी विशेष बैठक आयोजित की.

इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी विशेष रूप से आए हुए थे.

ख़बरें हैं कि भाजपा और कांग्रेस कुछ छोटी पार्टियों से समर्थन के लिए बातचीत में जुटी हैं.

उधर गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि उनकी पार्टी की प्राथमिकता ग़ैर-भाजपा और ग़ैर-कांग्रेस सरकार का गठन करना है.

दूसरी ओर समाजवादी पार्टी के नेता अमर सिंह ने लोकजनशक्ति पार्टी के नेता रामविलास पासवान के घर पर राजनीतिक चर्चा के बाद संवाददाता सम्मेलन में दावा किया कि समाजवादी पार्टी, लोक जनशाक्ति पार्टी और राष्ट्रीय जनता दल एक साथ हैं.

ये बैठकें इसलिए भी अहम मानी जा रही हैं क्योंकि विभिन्न मीडिया संस्थानों के एग्ज़िट पोल ने किसी भी गठबंधन या दल को स्पष्ट बहुमत नहीं दिया है.

ग़ौरतलब है कि भारत में पाँच चरणों में हुए लोकसभा चुनाव का मतदान समाप्त हो गया है और मतों की गिनती 16 मई को होनी है, जबकि नए संसद का गठन दो जून से पहले-पहले होना सांवैधानिक अनिवार्यता है.

 
 
जयललिता तमिलों का मुद्दा
तमिलनाडु में 'श्रीलंकाई तमिलों की दुर्दशा' बड़ा चुनावी मुद्दा बनकर उभरा है.
 
 
आज़म-अमर लड़ाई
जया प्रदा अपनी ही पार्टी के दो दिग्गजों की लड़ाई में फँस चुकी हैं.
 
 
हिमाचल प्रदेश विधानसभा हिमाचल का घमासान
हिमाचल में एक बार फिर मुक़ाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच सिमटा है.
 
 
किसान किसानों की दुर्दशा..
कृषि प्रधान पंजाब में किसानों की दशा को किसी दल ने मुद्दा नहीं बनाया है...
 
 
वुसतउल्लाह ख़ान लुंगी भी जाएगी!
वुसतउल्लाह ख़ान चर्चा कर रहे हैं हावड़ा के एक मतदाता से मुलाक़ात की.
 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>