पाक को परमाणु निर्यात, चीनी कंपनी दोषी करार

 मंगलवार, 4 दिसंबर, 2012 को 11:43 IST तक के समाचार

अमरीका ने पाकिस्तान को परमाणु निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है.

चीन की सरकार से जुड़ी एक कंपनी ने गैर क़ानूनी तरीके से अमरीकी परमाणु सामग्री पाकिस्तान के परमाणु ऊर्जा संयंत्र को निर्यात करने का आरोप स्वीकार कर लिया है.

अमरीकी क़ानून मंत्रालय के मुताबिक इस अपराध के लिए 'हुआक्सिंग कंस्ट्रक्शन' पर 30 लाख डॉलर का जुर्माना लगाया गया है.

अमरीका ने 1998 के परमाणु परीक्षण के बाद पाकिस्तान को किसी भी तरह के परमाणु संबंधी निर्यात पर रोक लगा दिया था.

ऐसा पहली बार है जब किसी चीनी कंपनी ने अमरीकी आपराधिक निर्यात का मामला स्वीकार किया है.

नानजिंग आधारित हुआक्सिंग ने ये स्वीकार किया है कि उसने अमरीका से आयातित परमाणु सामग्री को चीन के रास्ते पाकिस्तान के चश्मा-टू परमाणु ऊर्जा संयंत्र को 2006 और 2007 में भेजने का षडयंत्र किया था.

चीन और पाकिस्तान के बीच हुए परमाणु सहयोग करार के तहत हुआक्सिंग चश्मा टू परमाणु ऊर्जा संयंत्र का निर्माण कर रहा था.

इसी चीनी कंपनी की परमाणु लेप का उत्पादन करने वाली एक अन्य सहायक कंपनी ने 2010 में इसी तरह की जांच का सामना किया था.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.