क्या वाकई 'नन्हा द्वीप' है ग्रेट ब्रिटेन?

  • 18 सितंबर 2013
ब्रिटेन, नक्शा, द्वीप

एक रूसी अधिकारी ने पिछले हफ़्ते ग्रेट ब्रिटेन के बारे में कहा कि वो "एक छोटा सा द्वीप है जिस पर कोई ध्यान नहीं देता".

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने इसके जवाब में चुनौती देते हुए दिया कि वो ऐसे देश का नाम बताएं "जिसका ब्रिटेन से ज़्यादा गौरवशाली इतिहास, बड़ा दिल और तेज़ी से वापसी की क्षमता हो" लेकिन उन्होंने माना कि "ब्रिटेन द्वीपों का छोटा समूह है".

क्या वाकई ये द्वीपों का छोटा समूह है?

कनाडा के प्रिंस एडवर्ड आइलैंड विश्वविद्यालय के प्रोफेसर गॉडफ्रे बैल्डाचीनो के मुताबिक ब्रिटेन "काफ़ी बड़ा द्वीप है".

उनका कहना है, "हम बहुत बड़े द्वीपों को महाद्वीप कहते हैं और भौगोलिक नज़रिए से सिर्फ़ यूरेशिया-अफ्रीका, अमरीका, अंटार्कटिका और ऑस्ट्रेलिया ही चार महाद्वीप हैं. इसलिए हम इन्हें शामिल करें तो ब्रिटेन लकी-13 होगा - पृथ्वी पर 13वां सबसे बड़ा ज़मीन का टुकड़ा."

जनसंख्या के नज़रिए से ऊपर

अगर हम इन महाद्वीपीय टुकड़ों को शामिल न करें तो ब्रिटेन और ऊपर है. उसका स्थान नौंवा होगा.

इससे ऊपर होंगे ग्रीनलैंड, न्यू गिनी (इंडोनेशिया/पापुआ न्यू गिनी), बॉर्नियो (इंडोनेशिया/मलेशिया/ब्रुनेई), मैडागास्कर, बफिन आइलैंड (कनाडा), सुमात्रा, होंशू (जापान) और विक्टोरिया आइलैंड (कनाडा आर्कटिक द्वीपसमूह में).

ब्रिटेन ऐसे में क्यूबा (17वें), श्रीलंका (25वें), त्रिनिडाड (117वें) या लॉन्ग आइलैंड (148वें) जैसे कुछ जाने-माने द्वीपों से आगे होगा.

रूस का सबसे बड़ा द्वीप सखालिन 23वें नंबर पर होगा.

अगर जनसंख्या के हिसाब से देखें तो ब्रिटेन रैंकिंग में और ऊपर आता है.

द्वीप राज्यों के हिसाब से ब्रिटेन द्वीप समूह उत्तरी आयरलैंड के साथ इंडोनेशिया, जापान और फिलिपींस के बाद चौथे नंबर पर है, जनसंख्या घनत्व के हिसाब से ये मैनहटन के काफ़ी पीछे है जिसका क्षेत्रफल 87 वर्गकिलोमीटर है लेकिन जनसंख्या 16 लाख है.

लेकिन इस आइलैंड क्लब में ग्रेट ब्रिटेन की ख़ासियत सिर्फ़ यही नहीं है.

'वैश्विक साम्राज्य का केंद्र'

Image caption कैमरन माना कि ब्रिटेन छोटे द्वीपों का समूह है.

ग्रेट ब्रिटेन उन कुछ द्वीपीय सभ्यताओं में से है जो कई सदियों से वैश्विक साम्राज्य का केंद्र रही हैं.

प्रोफेसर गॉडफ्रे बैल्डाचीनो कहते हैं, "ब्रिटेन ठीकठाक आकार वाले उन गिने चुने द्वीपों में से है जो खुद को आधिकारिक रूप से 'ग्रेट' कहते हैं."

ज़्यादातर द्वीप जो खुद को 'ग्रेट' कहते हैं वो वाकई में बहुत छोटे हैं और खुद को 'ग्रेट' इसलिए कहते हैं ताकि अपने पास के उसी नाम वाले छोटे द्वीपों से खुद को अलग दिखा सकें.

जैसे कि अमरीका के कनेक्टिकट के तट के नजदीक ग्रेट कैप्टन आइलैंड, लिटल कैप्टन आइलैंड और वी कैप्टन आइलैंड.

प्रोफेसर गॉडफ्रे बैल्डाचीनो कहते हैं, "द्वीपों में ग्रेट ब्रिटेन से महान कोई नहीं है. मैं यकीन के साथ नहीं कह सकता कि ये दिखावा है या दुस्साहस लेकिन ये दुनिया में ब्रिटेन के महत्व का संकेत हो सकता है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार