इबोला के 17 मरीज़ 'भाग निकले'

लाइबेरिया, इबोला इमेज कॉपीरइट Getty

लाइबेरिया की राजधानी मोनरोविया में इबोला के उपचार केंद्र को हमला करके लूट लिया गया था. वहां से ग़ायब होने वाले 17 मरीज़ों के बारे में विरोधाभाषी ख़बरें आ रही हैं. शनिवार शाम को एक उग्र भीड़ ने इस केंद्र पर हमला कर दिया था.

शहर की घनी आबादी वाली वेस्ट प्वाइंट इलाक़े में सैकड़ों लोगों ने ' यहां इबोला नहीं है' का नारा लगाते हुए प्रदर्शन किया.

लाइबेरिया के सहायक स्वास्थ्य मंत्री टोलबर्ट नवेंस्वाह ने कहा कि प्रदर्शनकारी इस बात से नाराज थे कि यहां जिन मरीजों का इलाज चल रहा है, वे राजधानी के बाहर से लाए जा रहे हैं.

इतना ख़तरनाक क्यों है इबोला?

'सारे मरीज भाग गए'

टोलबर्ट ने कहा कि उपचार केंद्र पर हमले के बाद 29 मरीजों को जॉन एफ़ केनेडी मेमोरियल मेडिकल सेंटर में बने केंद्र में प्राथमिक इलाज चल रहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty

एक संवाददाता ने बीबीसी को बताया कि 17 लोग कैंप से भाग गए, जबकि 10 अन्य लोगों को उनके परिजन साथ ले गए.

इमेज कॉपीरइट Getty

हमले की एक प्रत्यक्षदर्शी रिबेका वेसेह ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया, "उन्होंने दरवाज़ा तोड़ दिया. इस केंद्र को लूट लिया. सारे मरीज भाग गए."

इमेज कॉपीरइट AFP

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक़ लाइबेरिया में इबोला वायरस के संक्रमण से 400 से ज़्यादा लोगों की मौत हुई है, वहीं अबतक इसके संक्रमण से 1,145 लोगों की मौत हो चुकी है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार