बीबीसी इंडिया बोल... लाइव टेक्स्ट

IST 2029 बीबीसी इंडिया बोल की इस कड़ी में इतना ही. कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद.

IST 2028 मूसा खान पंजाब से कहते हैं राजनीति बदलें. नेतृत्व को सुधारें. बदलेगा समाज, हारेगा भ्रष्टाचार.

IST 2027 इकबाल साहब कहते हैं कि हम अपने स्तर पर कोशिश कर ही रहे हैं. आम आदमी कोशिश कर रहा है.

IST 2027 वसीम क़तर से कहते हैं कि 10-20 रूपए में कस्टम के अधिकारी बिकते हैं. दो रूपए में बिक जाता है पुलिस वाला. मशाल आम जनता ही उठाएगी.

IST 2025 दीपक कहते हैं कि भ्रष्टाचार की जड़े इतनी गहरी हैं कि आम आदमी इससे नहीं निपट सकता. इक़बाल दुबई से कहते हैं कि रोज़मर्रा की ज़िंदगी में हम भ्रष्टाचार से रूबरू हैं.

IST 2024 झारखंड से दीपक कहते हैं कि राजनीति ही भ्रष्टाचार का मु्ख्य कारण है. शिक्षा नीति में बदलाव किया जाए और जनजागरण अभियान चलाएं.

IST 2021 दिल्ली से देवव्रत चौहान कहते हैं कि नैतिक मूल्यों की बात बेमानी क्योंकि किसके नैतिक मूल्य की बात हम कर रहे हैं. किसको नैतिकता की शिक्षा दें. कौन भ्रष्ट नहीं है.

IST 2018 धनंजय त्रिपाठी देवरिया से कहते हैं कि जजों के सहारे अंकुश नहीं लगेगा भ्रष्टाचार पर. नैतिक मूल्यों की ज़रूरत समाज को

IST 2013 भोपाल से प्रदीप कहते हैं कि हम दूसरों को देखकर सीखते हैं. तरीका नहीं, उपलब्धि बन जाती है मानक

IST 2011 रूपा लोगों से सवाल उठाती हैं कि भ्रष्टाचार कम हो तो कैसे हो. वसीम साहब जोड़ते हैं कि पैदा कोई भी बेईमान नहीं होता. हम समाज में भ्रष्टाचार सीखते हैं.

IST 2010 वसीम रज़ा क़तर से कहते हैं कि बाकी लोग मौके की तलाश में हैं.

IST 2009 बाड़मेर से खीमाराम कहते हैं कि बड़े आदमी की पहचान है पैसा. ईमानदारी या कुछ और नहीं.

IST 2008 वो कहते हैं कि खाने को नहीं मिलना ईमानदार होने की मजबूरी है. जो खा पा रहा है, वो भ्रष्ट है.

IST 2007 खीम सिंह रावत कहते हैं कि पूरी तरह से खत्म नहीं हो सकता भ्रष्टाचार... हाँ, हम हो सकता है.

IST 2002 निर्भय बलिया से कहते हैं कि हम कम भ्रष्ट हैं तो ठीक हैं और ज़्यादा तो बुरे... ये दोहरा मापदंड है

IST 2000 बीबीसी इंडिया बोल में शामिल हों. 1800-11-7000 पर. लाइव

IST 1959 बीबीसी इंडिया बोल टीम की ओर से आप सभी पाठकों, श्रोताओं को नमस्कार, रूपा झा स्टूडियो में आ चुकी हैं.

IST 1957 बीबीसी इंडिया बोल...बस कुछ क्षणों में...आपके बीच. लाइव

IST 1927 बीबीसी इंडिया बोल में शामिल होने के लिए आएं टोल फ्री नंबर 1800-11-7000 पर या hindi.letters@bbc.co.uk पर

IST 1925 इसबार का विषय है- क्या भ्रष्टाचार भारतीय समाज का स्वभाव बन चुका है.

IST 1921 बीबीसी इंडिया बोल की ओर से आप सभी का स्वागत. अब से कुछ देर में यानी 39 मिनट बाद हम होंगे आपसे रूबरू...लाइव