बीबीसी इंडिया बोल... लाइव टेक्स्ट

बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी. बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी.
यह अपने आप अपडेट होता रहेगा.

ताज़ा पेज देखें

IST 2028 इससे नुकसान क्रिकेट का है. खेल का है. आज के कार्यक्रम में इतना ही. धन्यवाद.

IST 2027 प्रदीप मैगज़ीन कहते हैं कि कभी शांति के लिए, कभी दुश्मनी निकालने के लिए क्रिकेट का इस्तेमाल ग़लत है.

IST 2026 कुलदीप राठौर ग्वालियर से कहते हैं कि विश्व विजेता टीम को बाहर रखना क्रिकेट की भी तौहीन है.

IST 2025 संजय कहते हैं कि पाकिस्तान ही नहीं, ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों का बहिष्कार भी किया जाना चाहिए.

IST 2023 पर एक श्रोता कहते हैं कि राष्ट्रीयता से बढ़कर क्या हो सकता है. अतहर ईमाम कहते हैं कि क्रिकेट के हित को ध्यान रखें.

IST 2022 प्रदीप मैगज़ीन कहते हैं कि राष्ट्रीयता को क्रिकेट के साथ मिलाकर न देखें.

IST 2021 वो कहते हैं कि इससे क्रिकेट फ़ैन की भावना प्रभावित होती है. एक श्रोता इसका खंडन करते हैं.

IST 2019 प्रदीप मैगज़ीन कहते हैं कि अगर बात बाज़ार की थी तो गुणवत्ता प्राथमिक होनी चाहिए थी.

IST 2019 एक अन्य श्रोता कहते हैं कि खिलाड़ी बाज़ार में आए थे. जो बिका वो सही.

IST 2017 राम जी लाल बीकानेर से कहते हैं कि इतना शोर क्यों हो रहा है.

IST 2015 कार्यक्रम में अब बारी ऑनलाइन की प्रतिक्रियाओं की. लेकर आ रहे हैं ऐश्वर्य कपूर.

IST 2015 पाकिस्तान से शकूर साहब कहते हैं कि भारतीय मुक्केबाज़ पाकिस्तान आकर खेलकर जा रहे हैं, तब कुछ नहीं तनतना रहा. इतना भावुक न हों और क्रिकेट को हो रहे नुकसान के बारे में सोचें.

IST 2013 सुरेश दंतेवाड़ा से कहते हैं कि यह खरीदारों का मसला है और यहाँ इज़्ज़त और बेइज़्ज़ती का सवाल ही नहीं है.

IST 2011 प्रदीप मैगज़ीन की बात से एक श्रोता असहमति जताते हुए कहते हैं कि आईपीएल की नीलामी से पाकिस्तानी खिलाड़ियों को बाहर न रखना खेल भावना का प्रदर्शन है.

IST 2010 ईश्वर तिवारी बिलासपुर से कहते हैं कि जब मर्ज़ी क्रिकेट मालिकों की है तो बहस क्यों करें.

IST 2008 खेल पत्रकार प्रदीप मैगज़ीन कहते हैं कि अगर और कुछ मुद्दे थे तो उनको नीलामी से बाहर रखना चाहिए था. नीलामी में लाएं और न लें तो उनको एक तरफ से बाहर करना ग़लत है.

IST 2007 दिल्ली से अख़्तर कहते हैं कि खेल को खेल रहने दें, राजनीति का अखाड़ा न बनाएं.

IST 2006 गुजरात से एक श्रोता कहते हैं कि खेल को खेल की तरह ही देखें, भारत-पाक के मुद्दों की तरह नहीं.

IST 2005 संजय सागर से कहते हैं कि जिन्होंने उन्हें नहीं चुना, वो चयनकर्ताओं का निजी मामला था. अगर उनको लगता है कि इन खिलाड़ियों को लेने से फायदा नहीं है तो वो अपना निर्णय क्यों बदलें.

IST 2004 खेल पत्रकार प्रदीप मैगज़ीन कहते हैं कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों को न लेने के पीछे कारण क्रिकेट नहीं है. क्यों नहीं लिया, यह बहस का विषय है.

IST 2003 पाकिस्तान से खेल पत्रकार शकूर साहब भी कार्यक्रम में शामिल हैं. वो कहते हैं कि क्रिकेट डिप्लोमेसी की भूमिका निभाता रहा है.

IST 2001 आईपीएल में पाकिस्तानी खिलाड़ियों में से एक की भी बोली नहीं लगी. पाकिस्तानी खिलाड़ियों का कहना है कि यह केवल उनका नहीं, उनके देश का भी अपमान है.

IST 1959 अभी डायल करें टोल फ्री नंबर 1800-11-7000 और शामिल हो रेडियो कार्यक्रम में लाइव.

IST 1958 आज का विषय है कि क्या पाकिस्तानी क्रिकेटर आईपीएल में खेलने के काबिल नहीं हैं.

IST 1956 शुक्रवार का कार्यक्रम प्रस्तुत कर रहे हैं अविनाश दत्त. पल पल बदलती बहस के लिए देखें लाइव टेक्स्ट.

IST 1955 बीबीसी इंडिया बोल कुछ ही क्षणों में. लाइव आपके बीच. मैं हूँ पाणिनि आनंद. नमस्कार.

IST 1945 बीबीसी इंडिया बोल अब हर मंगलवार और हर शुक्रवार होगा आपके बीच. यानी सप्ताह में दो बार आपसे सीधे जुड़ेंगे हम.

IST 1915 कार्यक्रम में लाइव हिस्सा लें लाइव टेक्स्ट के ज़रिए या कॉल करें टोल फ्री नंबर 1800-11-7000 पर.

IST 1915 इसबार का विषय है- क्या आईपीएल में खेलने के काबिल नहीं है पाकिस्तानी क्रिकेटर...?

IST 1915 बीबीसी इंडिया बोल की ओर से आप सभी का स्वागत. अब से कुछ देर में यानी 45 मिनट बाद हम होंगे आपसे रूबरू...लाइव

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.