कश्मीरी नौजवानों ने लड़ाई में नई जान डाल दी हैः शरीफ़

इमेज कॉपीरइट AP

संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन में हिस्सा लेने अमरीका पहुँचे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने एक बार फिर कश्मीर का मुद्दा उठाया है.

पाकिस्तानी समुदाय को संबोधित करते हुए नवाज़ शरीफ़ ने कहा कि कश्मीरी नौजवानों ने कश्मीर की आज़ादी की लड़ाई में नई जान डाल दी है.

उन्होंने कहा, ''भारत प्रशासित कश्मीर में मानवाधिकारों का उल्लंघन बंद हो. दुनिया को दहशतगर्दी और आज़ादी की लड़ाई में फर्क करना होगा.''

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान हर स्तर पर कश्मीरियों के आत्मनिर्णय के अधिकार का समर्थन करता रहेगा.

कश्मीर में हिजबुल मजाहिदीन के कथित कमांडर बुरहान वानी की जुलाई में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में हुई मौत के बाद से तनाव फैला हुआ है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption जम्मू कश्मीर के उड़ी में सेना के कैंप पर 18 सितंबर 2016 को हुए हमले के दौरान मोर्चा लेता सेना का एक जवान.

भारतीय सुरक्षाबलों की कार्रवाई में कश्मीर में अब तक 70 से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और सुरक्षा बलों के जवानों समते हज़ारों लोग घायल हुए हैं.

इस बीच रविवार को भारत प्रशासित कश्मीर के उड़ी सेक्टर में हुए चरमपंथी हमले में 17 भारतीय सैनिकों की मौत के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच बयानबाज़ी शुरू हो गई है.

भारतीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को एक ट्वीट में पाकिस्तान को चरमपंथी देश बताते हुए लिखा, "पाकिस्तान एक चरमपंथी देश है. उसकी पहचान चरमपंथी देश के रूप में ही कर उसे अलग-थलग किया जाना चाहिए."

वहीं पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख़्वाज़ा आसिफ़ ने डॉन न्यूज़ से कहा कि अगर भारत पाकिस्तान पर हमला करता है तो उसे कड़ा जवाब दिया जाएगा.

उहोंने कहा, "अगर हमारी ओर किसी ने आँख उठाकर भी देखा या बुरी नीयत से किसी ने पांव रखने की कोशिश की तो हमें भी जवाब देना आता है. हमने चूड़ियां नहीं पहन रखी हैं."

कश्मीर में हुए चरमपंथी हमले पर उन्होंने कहा कि भारत जो बो रहा है वही काट रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)