पहले भी कानून तोड़ चुका था न्यूयॉर्क धमाके का अभियुक्त

इमेज कॉपीरइट Getty Images

न्यूयॉर्क और न्यूजर्सी में बीते सप्ताह हुए बम धमाकों के सिलसिले में पुलिस ने अफ़ग़ान मूल के एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है.

इस व्यक्ति की पहचान 28 साल के अहमद ख़ान राहामी के तौर पर की गई है.

हिरासत में लिए जाने से पहले पुलिस और इस व्यक्ति के बीच हुई गोलीबारी में पुलिस अधिकारी तो घायल हुए थे, वह भी घायल हो गया था.

राहामी अभी अस्पताल में है. उस पर बम धमाकों के संबंध में और भी आरोप लगाए जा सकते हैं.

एफबीआई के मुताबिक राहामी एक अमरीकी नागरिक है. वह पांच फुट छह इंच लंबा है और उसका वजन 90 किलो है, उसके बालों का रंग भूरा और आंखें भी भूरी हैं.

राहामी न्यूजर्सी के फ्राइड चिकन रेस्टोरेंट में अपने परिवार वालों के साथ काम करता था.

वह अपने परिवार के साथ नेवार्क के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से कुछ किलोमीटर की दूरी पर रहता था.

राहामी के पास हमेशा आने वाले ग्राहक रयान मैकेन बताते हैं कि वह दोस्ताना रवैया रखने वाला अच्छा लड़का था. लेकिन उन्हें नहीं पता था कि वो ऐसे काम में जुटा था.

इमेज कॉपीरइट AFP

मैकेन कहते हैं कि वो हर हफ्ते एक या दो बार कुछ खाने के लिए वहां जाते थे और वो हमेशा वहीं होता था. वो अमरीकी नागरिकों जैसा ही था, जरा भी अलग नहीं दिखता था.पुलिस अधिकारियों ने उसके घर की भी तलाशी ली है.

रेस्टोरेंट में आने वाले एक और ग्राहक ने बताया कि एक बार रेस्टोरेंट बंद करने को लेकर राहामी के भाई की एक अधिकारी से मारपीट भी हुई थी. लेकिन उसका भाई केस दर्ज होने तक अफ़गानिस्तान भाग गया था.

राहामी ने अपने पिता से रेस्टोरेंट चलाने का काम लिया था.

अधिकारियों ने बताया कि वो अपराध शास्त्र विषय पर पढ़ाई के लिए मिडिलसेक्स काउंटी कॉलेज भी गया था, लेकिन डिग्री हासिल नहीं की थी.

अधिकारियों के मुताबिक राहामी के व्यवहार में तब बदलाव देखा गया जब वह चार साल पहले अफ़गानिस्तान से लौटा.

अफ़गानिस्तान से लौटने के बाद उसने दाढ़ी बढ़ा ली. पारंपरिक मुस्लिम पोशाक पहनने लगा और अपने स्टोर के पीछे जाकर प्रार्थना भी करने लगा था.

अमरीकी अधिकारी ने बताया, ''आतंकवाद से लड़ने के लिए तैयार की गई सूची में उसका नाम नहीं था.''

लेकिन हाल की गोलीबारी की घटना कानून तोड़ने का उसका पहला मामला नहीं था.

अदालत के दस्तावेजों के अनुसार साल 2014 में एक घरेलू झगड़े में एक आदमी के पैर पर वार करने के मामले में उसे हथियार के साथ गिरफ्तार किया गया था.

लेकिन ज्यूरी ने उसे दोषी करार देने से इनकार कर दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)