अमरीकी शहर शॉर्लट में प्रदर्शन थमे, कर्फ़्य़ू हटा

इमेज कॉपीरइट Sean Rayford
Image caption अमरीकी शहर शार्लट में प्रदर्शनकारी पुलिस से भिड़ गए.

अमरीकी शहर शार्लट में दो दिनों के बाद अब प्रदर्शनों में कमी आई है जिसके बाद पुलिस ने कर्फ्यू को आगे नहीं बढ़ाने का फैसला किया है.

पुलिस की गोलीबारी में एक काले युवक की मौत के बाद उत्तरी कैरोलीना के इस शहर में हिंसा भड़क उठी थी. शार्लट के पुलिस अफ़सर ने 21 सितंबर को काले युवक कीथ लैमंट स्कॉट को गोली मार दी थी.

आधी रात के बाद हिंसा की छिटपुट वारदात हुई थी. प्रदर्शनकारियों ने पहले पुलिस से शूटिंग का वीडियो जारी करने की मांग की थी.

पुलिस ने मारे गए युवक के रिश्तेदारों को वीडियो फ़ुटेज दिखाए, पर कहा कि वीडियो ज़ारी करने की उनकी कई योजना फ़िलहाल नहीं है.

शार्लट पुलिस ने कहा है कि गुरूवार को कोई नागरिक घायल नहीं हुआ. लेकिन प्रदर्शनकारियों ने दो पुलिस अफ़सरों पर रसायन का छिड़काव कर दिया, जिसके बाद उनका इलाज़ करवाया गया.

Image caption कीथ लैमंट स्कॉट को पुलिस अधिकारी ब्रेंटली विनसन ने गोली मारी थी

पुलिस का अपने बचाव में कहना था कि स्कॉट ने पुलिस के बार बार कहने के बावजूद अपनी बंदूक नीचे नहीं रखी थी. लेकिेन स्कॉट के पड़ोसियों और प्रदर्शनकारियों का मानना है कि उनके हाथ में किताब थी ना कि हथियार. वे वहां अपने बेटे को लेने के लिए स्कूल बस का इंतजार कर रहा था.

पुलिस का कहना है कि "हम वहां किसी दूसरे आदमी गिरफ़्तारी का वारंट लेकर गए थे. इस बीच हमने देखा कि स्कॉट अपनी कार से हैंडगन लेकर बाहर आ रहे हैं. हमने उन्हें बार बार चेतावनी दी कि वे अपनी बंदूक नीचे रख दें. पर उन्होंने हमारी चेतावनी पर ध्यान नहीं दिया."

शॉर्लट के अधिकारियों ने पहले कहा था कि उनकी गोली से किसी की मौत नहीं हुई है. लेकिन बाद में उन्होंने अपने बयान से पलटते हुए स्पष्टीकरण जारी कर दिया था.

पुलिस के अनुसार, विरोध प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से एक प्रदर्शनकारी घायल हो गया. इसके बाद बुधवार को स्थिति से निपटने के लिए राज्य के गवर्नर ने शहर में आपात स्थिति की घोषणा कर दी.

नॉर्थ कैरोलाइना पुलिस के मुतबिक़, "अभी तक 44 लोगों को हिंसा फैलाने के जुर्म़ में गिरफ़्तार किया गया है."

इमेज कॉपीरइट Sean Rayford
Image caption अमरीकी शहर शार्लट कालों का विरोध प्रदर्शन

प्रदर्शनकारी "काले लोगों की जिंदगी मायने रखती है"और "हाथ ऊपर उठाओ, गोली मत मारो" के नारे लगा रहे थे.

जैसे ही ये प्रदर्शनकारी एक होटल के पास पहुंचे, पुलिस अफ़सरों ने उन्हें रोकने की कोशिश की. मार्च में शामिल कुछ लोगों ने पुलिस पर बोतलें फेंकी और पथराव किया.

इमेज कॉपीरइट Sean Rayford

शॉर्लेट में हुए हिंसक प्रदर्शनों ने शार्लट को उन अमरीकी शहरों में शुमार कर दिया, जहां किसी काले व्यक्ति की मौत के बाद हिंसा भड़क उठी हो.

इन प्रदर्शनों को रोकने की कोशिश के दौरान चार पुलिस अफ़सर घायल हुए हैं. कीथ एक सप्ताह में पुलिस की गोली से मारे जाने वाले तीसरे काले व्यक्ति हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption शार्लट में विरोध प्रदर्शन

इसके बाद घटना के बाद शहर में नस्ली तनाव पैदा हो गया था.

गवर्नर पैट मैकक्रोरी ने 21 सितंबर देर रात कहा कि उन्होंने शॉर्लेट पुलिस प्रमुख के शहर में आपात स्थिति लागू करने का अनुरोध स्वीकार लिया है. शहर में कानून व्यवस्था बहाल करने के लिए नेशनल गार्ड और सैनिकों को बुलाया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार