विवादास्पद 9/11 विधेयक पर ओबामा का वीटो ख़ारिज

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीकी कांग्रेस ने बहुमत से राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा 9/11 विधेयक पर लगाए गए वीटो को दरकिनार करने के पक्ष में मतदान किया है.

राष्ट्रपति ओबामा के आठ वर्षों के शासनकाल में यह पहला मौका है जब उनके वीटो को संसद ने दरकिनार किया है.

बराक ओबामा ने कहा है कि इस विधेयक पर उनके वीटो को ख़ारिज करके संसद के फैसले ने एक ख़तरनाक मिसाल कायम की है.

महत्वपूर्ण है कि ओबामा ने उस विधेयक पर वीटो किया था जिसके मुताबिक ग्यारह सितंबर हमलों के पीड़ितों परिवारों को अधिकार मिला था कि वो सऊदी सरकार के खिलाफ मुकदमा दायर कर सकते हैं.

ओबामा के वीटो को दरकिनार करने के पक्ष में 97 मत पड़े जबकि वीटो के पक्ष में केवल एक ही वोट पड़ा.

इमेज कॉपीरइट AP

आतंकवाद के पोषण करने वालों के खिलाफ न्याय अधिनियम (जास्टा) नाम वाले बिल के खिलाफ अमरीकी राष्ट्रपति ने कड़ी मेहनत की थी.

ओबामा ने रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक सीनेट नेताओं को भेजे गए पत्र में कहा था कि कानून के रूप में जास्टा लागू करना अमरीका के राष्ट्रीय हितों के लिए नुकसानदेह होगा.

इस विधेयक के पारित होने के बाद इससे अमरीकी सुरक्षा बलों और विदेशों में काम कर रहे अमरीकी लोगों पर संभावित कानूनी कार्रवाई संभव हो जाएगी.

ओबामा ने कहा कि इस बिल को पारित करने के संसद के फैसले से राष्ट्रपति के संप्रभुता के अधिकार की अवधारणा खत्म हो जाएगी.

डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसद चक स्कमर ने कहा है कि ये महत्वपूर्ण है कि पीड़ितों के परिजनों को न्याय पाने की अनुमति मिल सके, भले ही इसके कारण राजनयिक परेशानियों होती हों.

ओबामा ने अपने राष्ट्रपति के कार्यकाल में अभी तक 12 बार वीटो का इस्तेमाल किया है लेकिन ये पहला मौका है जब उनकी वीटो शक्ति को दरकिनार नहीं किया गया है.