पाक: मंत्रिमंडल, राष्ट्रीय सुरक्षा समिति और संसद की बैठक

इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारत- पाक नियंत्रण रेखा पर भारत की ओर से किए गए 'सर्जिकल स्ट्राइक' के बाद दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने मंत्रिमंडल और राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक बुलाई है.

संसद के संयुक्त सत्र को पहले ही बुलाया जा चुका है.

उधर, नियंत्रण रेखा के दोनों ओर सीमा के पास स्थित गांवों से लोगों के हटने की खबरें भी मिल रहीं हैं.

शुक्रवार को पाकिस्तान के केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई गई है, जिसमें भारत प्रशासित कश्मीर की स्थिति एजेंडे में शीर्ष पर होगी.

गुरुवार को प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी होने वाले बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने नियंत्रण रेखा की स्थिति और भारत प्रशासित कश्मीर में भारत के 'अत्याचार' पर चर्चा के लिए मंगलवार को राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक भी बुलाई है.

बयान में कहा गया है कि राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक में हिस्सा लेने के लिए चारों प्रांतों के मुख्यमंत्रियों को भी बुलाया गया है. बुधवार को संसद का संयुक्त सत्र भी बुलाया गया है.

भारत ने गुरुवार सुबह नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान प्रशासित क्षेत्र में कथित चरमपंथियों के ख़िलाफ़ 'सर्जिकल स्ट्राइक' करने का दावा किया था.

इमेज कॉपीरइट ISPR

इस पर पाकिस्तानी सेना के जनसंपर्क विभाग की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि भारत ने पाकिस्तान प्रशासित क्षेत्र में कोई 'सर्जिकल स्ट्राइक' नहीं किया है हालांकि भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा पर तीन जगहों पर बिना वजह फायरिंग ज़रूर की है.

पाकिस्तानी सेना का यह भी कहना है कि अगर पाकिस्तानी धरती पर सर्जिकल हमले किए गए तो उनका मुंह तोड़ जवाब दिया जाएगा.

उधर पाकिस्तान ने भारतीय उच्चायुक्त गौतम बमबावले को तलब कर 'नियंत्रण रेखा पर भारतीय सेना की अकारण फायरिंग' और बाद में दो सैनिकों की मौत पर कड़ा विरोध किया है.