'पाक भारतीय तोपों का मुंहतोड़ जवाब देगा'

इमेज कॉपीरइट AFP/GETTY

भारतीय सेना द्वारा गुरुवार को एलओसी पर की गई "सर्जिकल स्ट्राइक" की ख़बरें पाकिस्तानी मीडिया में छाईं हुई हैं.

अख़बा जंग लिखता है कि ''कहीं भी ऐसी कार्रवाई का मुंहतोड़ जवाब मिलेगा'' वहीं इसी अख़बार की दूसरी बड़ी ख़बर है कि "इस लड़ाई में दो सिपाही शहीद, भारत के आठ सैनिक हलाक." बयान में कहा गया है कि भारतीय तोपों का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा.

वहीं अंग्रेजी के बड़े अख़बार डॉन ने कहा है कि पाकिस्तान ने एक भारतीय फौज़ी को पकड़ा,कई मारे गए". अख़बार आगे लिखता है कि दोनों ही देशों के सेना अधिकारियों में एक भारतीय सैनिक के पकड़े जाने को लेकर संशय बना हुआ है. वहीं डॉन की दूसरी बड़ी ख़बर है कि "क्या सचमुच सर्जिकल स्ट्राइक है?"

वहीं इस्लामाबाद से निकलने वाले अंग्रेजी के अख़बार पाकिस्तान ऑबज़रवर ने लिखा है कि एलओसी पर रात में हुई कार्रवाई में पाकिस्तान ने एक भारतीय सैनिक को पकड़ा, आठ को मार गिराया".

अख़बार आगे लिखता है कि भारतीय सेना के किसी भी तरह के सर्जिकल स्ट्राइक से इनकार किया है, जबकि पाकिस्तानी आर्मी और सरकार ने किसी भी तरह की मुंहतोड़ कार्रवाई के लिए तैयार रहने की बात कही है.

पाकिस्तान से वरिष्ठ पत्रकार एहतशामुल हक़ बताते हैं आइसीआर ने इस बात से इनकार किया है कि उन्होंने किसी भी भारतीय सैनिक को पकड़ा है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

एहतशामुल बताते हैं कि ''पाकिस्तानी मीडिया ने इस पूरे मामले को खूब बढ़ा चढ़ा कर पेश किया है. ''

"एक ही सीन को बार-बार दिखाया जा रहा है. वहीं पाकिस्तान मीडिया भारतीय पत्रकारों के हवाला देकर एक ही बात को बार बार दिखा रहा है."

लेकिन डीजीएमओ से पत्रकारों द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक की फुटेज मांगने पर कहा गया है कि यह बाद में वो फुटेज दिया जाएगा.

पाकिस्तानी मीडिया बार-बार एक ही बात कह रहा है "भारतीय सेना द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक की सारी बातें झूठीं हैं, क्योंकि आर्मी ने अभी तक इसके कोई भी सबूत नहीं दिए हैं"

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)