सर्जिकल स्ट्राइक: संयुक्त राष्ट्र ने उठाए सवाल

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने भारत और पाकिस्तान से शांति की अपील की है.

संयुक्त राष्ट्र ने नियंत्रण रेखा पर सर्जिकल स्ट्राइक करने के भारत के दावों पर सवाल उठाया है.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून के प्रवक्ता स्टीफ़ान दुजारिक ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र के सैन्य प्रेक्षक दल ने भारत और पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर कोई गोलीबारी सीधे तौर पर नहीं देखी है.

बान की मून के प्रवक्ता स्टीफ़ान दुजारिक ने कहा, "संयुक्त राष्ट्र के सैन्य प्रेक्षक दल ने भारत और पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर कोई गोलीबारी सीधे तौर पर नहीं देखी है. संघर्ष विराम के इन कथित उल्लंघन के बारे में हमें खबरों जानकारी मिली है. प्रेक्षक दल उस सिलसिले में संबंधित अधिकारियों से बातचीत कर रहा है."

संयुक्त राष्ट्र का सैन्य प्रेक्षक दल भारत और पाकिस्तान के बीच नियंत्रण रेखा पर 1971 में लागू किए गए संघर्ष विराम की निगरानी करता है.

हालांकि संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत सैय्यद अकबरउद्दीन ने संयुक्त राष्ट्र के दावों को ख़ारिज करते हुए कहा कि किसी के देखने या न देखने से सच्चाई बदल नहीं जाती.

सैय्यद अकबरउद्दीन ने कहा, "जो तथ्य हैं वह किसी के देखने या न देखने से बदल नहीं जाते हैं और न ही किसी के मानने या न मानने से सच बदल जाता है. जो तथ्य हैं वह तो तथ्य ही रहते हैं और हमने तथ्य सामने रख दिए हैं और हम उसी पर कायम हैं."

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption सैनिकों को श्रद्धांजलि देती हुई पाकिस्तानी औरतें.

भारत ने दावा किया था कि उसकी फ़ौज ने जम्मू-कश्मीर क्षेत्र में नियंत्रण रेखा पर चरमपंथी ठिकानों को नष्ट करने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक की थी.

पाकिस्तान ने इन दावों को ख़ारिज किया था और कहा था कि ये वैसी ही झड़प थी जैसी इस इलाक़े में अकसर होती रहती है.

हालांकि पाकिस्तान ने माना कि उसके दो सैनिक हमलों में मारे गए थे.