इथियोपिया में भगदड़ में 52 लोगों की मौत

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption इथियोपिया की राजधानी के विस्तार के विरोध में ओरोमिया में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.

इथियोपिया के प्रधानमंत्री हाला मरियम डेसालन ने ओरोमियो क्षेत्र में हुई भगदड़ के लिए प्रदर्शनकारियों को दोषी बताया है.

प्रधानमंत्री के मुताबिक इस भगदड़ में 52 लोग मारे गए हैं.

उन्होंने उन रिपोर्टों का भी खंडन किया है जिनमें कहा गया है कि एक धार्मिक समारोह के दौरान जुटी लाखों लोगों की भीड़ पर सुरक्षाबलों ने गोलीबारी की थी.

चश्मदीदों के मुताबिक़ बिशोफ्तू शहर में प्रदर्शनकारियों ने अधिकारियों के भाषण में व्यवधान डाला जिसके बाद हालात ख़राब हुए.

वहीं विपक्ष का कहना है कि कम से कम डेढ़ सौ लोग मारे गए हैं.

मारे गए लोगों में से अधिकतर बचने के लिए भागने के दौरान एक गली में फंस गए.

इमेज कॉपीरइट AP

इथियोपिया की राजधानी अदिस अबाबा से 42 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बिशोफ़्तू में धार्मिक उत्सव के लिए हज़ारों लोग जमा हुए थे.

कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों ने पत्थर और बोतलें फेंकी जिसके बाद सुरक्षा बलों ने गोलियां चलाईं.

इमेज कॉपीरइट Photoshot

एक ओरोमो कार्यकर्ता जवर मोहम्मद ने कहा कि करीब तीन सौ लोगों की मौत हुई है और कई लोग घायल हुए हैं.

उन्होंने बताया कि सुरक्षा कर्मी के साथ हेलिकॉप्टरों से भी लोगों पर गोलियां चलाई जा रही थीं. जिससे पहाड़ की चोटी से लोग नीचे तालाब की तरफ़ गिर रहे थे.

हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की जा सकी है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption बहुत से प्रदर्शनकारियों ने अपने हाथ सर के ऊपर जोड़ रखे थे. ऐसा करना संघीय सरकार के विरोध का प्रतीक बन गया है.

ओरोमिया और अमहारा क्षेत्र के लोग लगातार ये शिकायत करते रहे हैं कि उन्हें राजनीतिक और आर्थिक स्तर पर अलग थलग रखा गया है.

ओरोमिया और अम्हारा प्रान्त में पिछले कुछ महीनों से सरकार और प्रदर्शनकारियों के बीच खूनी झड़पें भी हुई हैं.

इन प्रांतों में पिछले नवंबर से ही असंतोष भड़का हुआ है क्योंकि सरकार ने राजधानी का दायरा बढ़ा कर ओरोमिया तक ले जाने की योजना बनाई है.

इमेज कॉपीरइट FILE PHOTO
Image caption पिछले कई महीनों से इथियोपिया में प्रदर्शन जारी हैं.

सरकार के इस फैसले से ओरोमो समुदाय के लोग नारा़ज़ हैं क्योकि इस फ़ैसले से उनके विस्थापन की संभावना बढ़ जाती है.

अमरीका ने प्रदर्शनकारियों पर अतिरिक्त बल प्रयोग को लेकर चिंता ज़ाहिर की है.

एपी समाचार एजेंसी के मुताबिक़ रविवार को ओरोमो उत्सव में बीस लाख लोग जमा हुए थे और आज़ादी और न्याय के नारे लगा रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)