भारत लगातार झूठ फैला रहा है : पाकिस्तान

इमेज कॉपीरइट AP

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ की अगुवाई में पाकिस्तान के सभी राजनीतिक दलों की एक बैठक हुई है. बैठक में शरीफ़ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज़) के अलावा मुख्य प्रतिद्वंद्वी दल पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) और इमरान ख़ान की अगुवाई वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ भी शामिल हुई.

इस बैठक में भारत के साथ तनाव और कश्मीर पर चर्चा हुई. इस बैठक के बाद जारी संयुक्त वक्तव्य में पाकिस्तानी राजनीतिक दलों ने कहा है, "हम कश्मीर में लगातार निर्दोष लोगों की हत्या की निंदा करते हैं. यह मानवाधिकार और अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार क़ानूनों का उल्लंघन है."

पाकिस्तान के सभी राजनीतिक दलों की ओर से जारी संयुक्त घोषणा पत्र में दावा किया गया है कि बीते 87 दिनों में भारत प्रशासित कश्मीर में 110 लोगों की हत्या हुई जबकि पैलेट गन के इस्तेमाल के चलते 700 लोगों के आंखों की रोशनी गई है.

इमेज कॉपीरइट Aarabu Ahmad Sultan
Image caption कश्मीर में पैलेट गन से घायल लोग इलाज़ कराते हुए

इस वकतव्य में भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के दावे को ख़ारिज किया गया और कहा गया कि भारत प्रशासित कश्मीर से अंतरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान हटाने के लिए भारत लगातार झूठ फैला रहा है.

इसके मुताबिक लाइन ऑफ़ कंट्रोल पर भारत की ओर से की जाने वाली गोली बारी और आक्रामकता से क्षेत्र में तनाव बढ़ रहा है.

इस बैठक में कश्मीर के अभिन्न अंग होने के भारत सरकार के दावे को भी ख़ारिज़ किया गया और कहा गया है, दो देशों के बीच में कश्मीर एक विवादित जगह है, जिसका मामला संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में हैं.

इस बैठक में बलूचिस्तान में भारत के दखल की भी निंदा की गई हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इतना ही नहीं पाकिस्तान के नेताओं ने सार्क की बैठक नहीं होने देने के लिए भी भारत को ज़िम्मेदार ठहराते हुए कहा गया कि पड़ोसी देश आपसी या फिर बहुपक्षीय बातचीत के तैयार नहीं हैं.

पाकिस्तान के राजनीतिक दलों ने पाकिस्तान सेना के साहस की तारीफ़ की और कहा है कि भारत प्रशासित कश्मीर के लोगों की आत्म सम्मान की लड़ाई में पाकिस्तान उन्हें राजनीतिक, नैतिक और राजनयिक मदद देता रहेगा.

इस बैठक में पाकिस्तान के अंदर चरमपंथ को ख़त्म किए जाने पर भी सहमति जताई गई. साथ ही किसी भी बाहरी ख़तरे से निपटने के लिए नवाज़ शरीफ़ की सरकार के प्रति पूरी एकता जताई गई.