औरतों के मुद्दे पर घिरे ट्रंप, बिल को निशाना बनाया

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव की दूसरी टीवी बहस में रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनल्ड ट्रंप ने महिलाओं पर की गई अपनी अश्लील टिप्पणी वाले वीडियो से बचाव करते हुए हिलेरी और उनके पति पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन को निशाना बनाया.

बहस के दौरान रिपब्लिकन उम्मीदवार ने पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्होंने 'बिल की तरह किसी भी महिला का शारीरिक शोषण नहीं किया है.'

इमेज कॉपीरइट AFP

ट्रंप ने आरोप लगाया कि अमरीका की राजनीति के इतिहास में बिल से ज़्यादा स्त्रियों का अपमान करने वाला राष्ट्रपति नहीं हुआ है.

हिलेरी ने ट्रंप की इन टिप्पणियों पर किसी भी प्रकार का कमेंट नहीं किया.

सेंट लुइस में आयोजित इस प्रेसिडेंशियल डिबेट का संचालन सीएनएन के एंडरसन कूपर और एबीसी न्यूज़ की मार्था राडाट्ज़ ने किया.

इमेज कॉपीरइट AFP

बहस के दौरान एंडरसन कूपर ने जब ट्रंप से वर्ष 2005 के अश्लील टिप्पणी वाले वीडियो से जुड़ा सवाल किया तो ट्रंप ने जवाब देने के बजाए क्लिंटन परिवार पर ही सवालों की बौछार शुरू कर दी.

उन्होंने बिल क्लिंटन के कथित 'पूर्व कारनामों' पर अपने जवाब को केंद्रित रखा. संचालक ने जब काफी ज़ोर दिया तो उन्होंने इस किस्म के किसी भी मामले में संलिप्त होने से इनकार कर दिया. हालांकि उन्होंने बहस के दौरान महिलाओं के बारे में अश्लील टिप्पणी वाले वीडियो के मामले में माफ़ी भी मांगी है.

वर्ष 2005 के इस वीडियो में ट्रंप महिलाओं के बारे में आपत्तिजनक बातें करते सुनाई पड़ रहे हैं.

सेंट लुइस की वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी में हुई बहस की शुरुआत में डेमोक्रैट उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने डोनल्ड ट्रंप पर महिलाओं के बारे में टिप्पणी को लेकर निशाना साधा.

उन्होंने कहा कि डोनल्ड ट्रंप ने महिलाओं के बारे में जो टिप्पणी की है उसके बाद वो राष्ट्रपति बनने लायक नहीं हैं. हिलेरी के अनुसार वह ट्रंप से पहले के कई रिपब्लिकन उम्मीदवारों से असहमत थीं लेकिन इसके बावजूद देश की सेवा करने की उनकी योग्यता पर उन्हें कोई शक नहीं था.

उन्होंने कहा कि वीडियो के समाने आने के बाद और रिपब्लिकन पार्टी के अंदर उनके घटते समर्थन ने सबके सामने ट्रंप का असली चेहरा ला दिया है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव की दूसरी बहस में ट्रंप के भाषण पर हंसते लोग

बहस की शुरूआत करते समय इस बार दोनों उम्मीदवारों ने एक दूसरे से हाथ भी नहीं मिलाए.

ट्रंप ने अपने भाषण के दौरान साफ कहा कि अगर वो राष्ट्रपति बनते हैं तो वह हिलेरी के निजी ईमेल वाले मामले पर खास जांच बिठाएँगे.

इस पर हिलेरी ने ट्रंप को जवाब देते हुए कहा,' ट्रंप ने जो भी कहा है झूठ कहा है. लेकिन मुझे इस पर कोई हैरानी नहीं होती है. यह हमारी खुशकिस्मती है कि ट्रंप जैसा व्यक्ति हमारे देश के कानून व्यवस्था का इनचॉर्ज नहीं हैं."

ट्रंप ने इस पर हिलेरी को बीच में ही टोकते हुए जवाब दिया- 'हां, वरना तुम जेल में होती.'

इमेज कॉपीरइट AFP

ट्रंप ने कहा कि हिलेरी के दिल में उनके और उनके समर्थकों लिए काफी नफ़रत भरी पड़ी है. इस पर हिलेरी ने जवाब देते हुए कहा- 'मैं उन सभी से क्षमा मांगती हूं जो ट्रंप के समर्थक हैं. लेकिन मेरा वो बयान समर्थकों के लिए नहीं ट्रंप के लिए था. मैं उनके नफरत फैलाने वाले और लोगों को बांटने वाले प्रचार के खिलाफ़ हूं. "

उन्होंने कहा कि वो इस लीक की जिम्मेदारी लेती हैं. उन्होंने कहा कि इससे कोई भी क्लासीफाइड फाइल सार्वजनिक नहीं हुई और कोई भी जानकारी ग़लत हाथों में नहीं गई है.

दोनों उम्मीदवारों के बीच सीरिया,रुसी आक्रमण, ट्रंप के टैक्स रिटर्न को छिपाने और शरणार्थियों पर भी तीखी बहस हुई.

बहस के अंत में दोनों के सुर थोड़े नरम पड़े. एक सवाल के जवाब में हिलेरी ने कहा कि ट्रंप से उनके मतभेद हो सकते हैं, लेकिन वो उनके परिवार की इज्जत करती हैं.

वहीं ट्रंप ने हिलेरी की तारीफ करते हुए कहा कि वो एक जुझारू महिला हैं, जो आसानी से चुनावी मैदान को नहीं छोड़ने वाली हैं.

बहस की शुरुआत में एक-दूसरे से हाथ तक नहीं मिलाने वाले ट्रंप और हिलेरी ने बहस के आखिर में हाथ भी मिलाए.

राष्ट्रपति के चुनाव में वैसे यह बहस अब नीतियों के बजाए नैतिकता की तरफ चली गई है. अमरीका में आम नागरिक अब चरित्र पर बात कर रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)