सिनाई प्रांत में आईएस चरमपंथियों का हमला

इमेज कॉपीरइट AFP

मिस्र में संदिग्ध आईएस चरमपंथियों के हमले में 12 सैनिकों की मौत हो गई है. इस हमले में आठ सैनिक घायल भी हुए हैं. हमला सिनाई प्रांत प्रायद्वीप की एक चेकप्वाइंट पर हुआ.

सेना का कहना है कि बीर अल आब्द शहर के पास हुए हमले में 15 चरमपंथी भी मारे गए हैं.

सिनाई प्रांत ग्रुप के बंदूकधारियों ने ये हमला किया. यह मिस्र का सब से ज़्यादा सक्रिय चरमपंथी गुट है जिसने 2014 में कथित इस्लामिक स्टेट के प्रति निष्ठा की शपथ ली.

अधिकारियों का कहा है कि चेकप्वाइंट पर चरमपंथियों की तरफ से फायरिंग होने के बाद दोनों तरफ से गोलीबारी शुरू हो गई जिसमें हल्के और भारी दोनों तरह के हथियारों का इस्तेमाल हुआ.

बीते कुछ समय से चरमपंथियों की गतिविधियों में तेज़ी आ गई है.

सिनाई प्रोविंस का पहले नाम अंसार बेत अल मकदिस(यरुशलम के समर्थक) था, 2014 में आईएस से जुड़ने के बाद इसका नाम बदल गया.

पहले ये गुट इस्रायल के खिलाफ़ रॉकेट हमले करता था लेकिन राष्ट्रपति मुर्सी को हटाए जाने के बाद इसने मिस्र की सेना को निशाना बनाना शुरू कर दिया.

समझा जाता है कि इस गुट का लक्ष्य सिनाई प्रायद्वीप को अपने कब्जे में लेकर इसे इस्लामी राज्य बनाना है.

अक्टूबर 2014 में इसने सबसे बड़ा हमला किया था जब उत्तरी सिनाई में 33 सुरक्षाबल के जवान मारे गए थे.

गुट के सक्रिय सदस्यों की तादाद 1000-1500 तक बताई जाती है. इनके संपर्क काहिरा, गिज़ा और वेस्टर्न डेज़र्ट तक हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)