चीनी यात्री अंतरिक्ष प्रयोगशाला में दाख़िल

इमेज कॉपीरइट Reuters

चीन के दो अंतरिक्ष यात्री चीन की अंतरिक्ष प्रयोगशाला तियानगॉन्ग-2 पंहुच गए हैं.

चीन ने 17 अक्तूबर को जिउचुआन सैटेलाइट लॉन्च सेंटर से शेनज़ू-11 अंतरिक्ष यान छोड़ा था, जिसमें ये दोनों अंतरिक्ष यात्री सवार थे.

शेनज़ू-11 यान सोमवार को ग्रीनिच मीन टाइम 19 बज कर 24 मिनट पर तियानगॉन्ग से जुड़ गया.

चीनी अंतरिक्ष यात्री जिंग हाइपेंग और चेन डॉन्ग एक महीने तक वहां रहेंगे और कई तरह के प्रयोग करेंगे.

पृथ्वी से 393 किलोमीटर ऊपर चीनी अंतरिक्ष यान प्रयोगशाला से जुड़ा है.

इमेज कॉपीरइट AP

सरकारी टेलीविज़न ने अंतरिक्ष यान के प्रयोगशाला से मिलने की प्रक्रिया का सीधा प्रसारण किया. इसमें दिखाया गया कि दोनों अंतरिक्ष यात्री एक मीटर लंबे और 80 सेंटीमीटर चौड़े रास्ते से गुजरते हुए प्रयोगशाला में दाख़िल हो गए.

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक़, दोनों अंतरिक्ष यात्रियों ने प्रयोगशाला से ही देश के सभी लोगों का अभिवादन किया.

चीन अंतरिक्ष शोध को लेकर काफ़ी महात्वाकांक्षी है. इसकी योजना अंतरिक्ष में और लंबे समय तक अपना मिशन चालू रखने और मंगल ग्रह और चांद पर अंतरिक्ष यात्रियों को भेजने की है.

इसके पास दुनिया का सबसे बड़ा रेडियो टेलीस्कोप भी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार