भयंकर बदबू रोकेगी बाइक की चोरी!

इमेज कॉपीरइट Skunklock

एक नई कंपनी ने बाइक चोरों से निपटने के लिए एक अनोखा तरीका खोजा है. कंपनी ने ऐसा बाइक लॉक बनाया है जो कि दुर्गंध वाली गैस छोड़ता है.

'स्कुंक लॉक' अंदर से दुर्गंधयुक्त गैस से भरा यू के आकार का स्टील का लॉक है.

यदि कोई इस लॉक को काटने की कोशिश करता है तो इसकी गैस बाहर निकल कर फैल जाती है.

कंपनी का दावा है कि उसका हानिकारक रसायन बेहद ख़राब है और अधिकांश मामलों में इससे उल्टी होती है.

कंपनी दावा करती है कि गैस सांस लेने में तकलीफ़ और देखने में परेशानी पैदा करती है.

इमेज कॉपीरइट Skunklock

ये गैस बाइक चोरी को जितना हो सके उतना अरुचिकर बनाती है- ये लॉक कंपनी क्राउड फंडिंग साइट इंडीगोगो के लिए पैसा जुटा रही है.

अपने क्राउड फंडिग पेज पर कंपनी दावा करती है, "हमारा फॉर्मूला चोर के किसी भी तरह के कपड़ों को बर्बाद कर देता है "

चोरी की गई बाइक उनकी वास्तविक कीमत से काफ़ी कम पर बेची जाती हैं, ऐसे में कपड़ों और उपकरणों को बदलना चोरी को अधिक परेशानी का सबब बना सकता है और ये चोरी महंगी पड़ सकती है.

स्कुंकलॉक बनाने वाली कंपनी कहती है कि उसने अपनी बदबूदार गैस का परीक्षण कर लिया है और ये उच्च श्रेणी के गैस मास्क लगाने पर भी अपना असर दिखाती है. हालांकि अधिकांश चोरों के गैस मास्क लगाने की संभावना ना के बराबर होती है.

इमेज कॉपीरइट Skunklock

कंपनी का कहना है कि ये दबावयुक्त (कंप्रेस्ड) गैस पूरी तरह से सुरक्षित है और केवल एंगल ग्राइंडर के काटने पर ही निकलेगी.

ये लॉक केवल एक बार ही प्रयोग होता है. इसके कटने पर 100 डॉलर का ये लॉक बदलना पड़ेगा.

लेकिन उम्मीद की जा रही है कि ये खराब अनुभव बाइक चोरों के लिए चोरी की छोड़ने की वज़ह भी बन सकता है.

स्कुंकलॉक के ईजाद वाले इलाके सैन फ्रैंसिस्को में बाइक चोरी की घटनाएं आम है.

इमेज कॉपीरइट Skunklock

इसी साल लंदन में 17,800 बाइक चोरी हुईं थी. इनमें से अधिकांश की रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई. बाइक चोरी का वास्तविक आंकड़ा कहीं ज़्यादा है.

कंपनी का दावा है कि उसने इस उत्पाद के संबंध में अमरीकी कानूनों की समीक्षा पहले ही कर ली है.

कंपनी की योजना बाइक चोरी की अधिक दर वाले देशों सहित ब्रिटेन, नीदरलैंड, जर्मनी, फ्रांस, डेनमार्क, फिनलैंड, बेल्जियम, स्वीडन और जापान इस लॉक की बिक्री करने की है.

पहले ही दिन इंडीगोगो पर क्राउड फंडिंग अभियान से 20 हज़ार डॉलर के लक्ष्य में से 8 हज़ार डॉ़लर जुटाया जा चुका है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे