एटीएंडटी ख़रीदेगी टाइम वार्नर को

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीका की दिग्गज टेलीकॉम कंपनी एटीएंडटी ने घोषणा की है कि वो मनोरंजन समूह की कंपनी टाइम वार्नर को करीब 86 अरब डॉलर में खरीदेगी.

दोनो कंपनियों के बोर्ड ने शनिवार को समझौते की शर्तों को मंज़ूरी दे दी. हालाँकि समझौते को अभी नियामकों की मंजूरी मिलनी बाकी है.

ख़बरों के मुताबिक़ यह समझौता इस साल का दुनिया का सबसे बड़ा समझौता होगा.

टेलीकॉम कंपनी एटीएंडटी अपने हाईस्पीड नेटवर्क के लिए कंटेन्ट हासिल करना और अधिक से अधिक ऑनलाइन दर्शक जुटाना चाहती है.

यदि नियामक समझौते को अपनी मंजूरी दे देते हैं तो एटीएंडटी का वार्नर ब्रदर्स फ़िल्म स्टूडियो और दूसरी बड़ी मीडिया परिसंपत्तियों सहित एचबीओ और सीएनएन टीवी नेटवर्क पर नियंत्रण होगा.

एटीएंडटी सीईओ रैंडल स्टीफेंसन का कहना है, "यह दो कंपनियों की बेहतरीन जोड़ी है. वे एक साथ मिलकर मीडिया और कम्युनिकेशन की मदद से नए तरीके से ग्राहकों, कंटेन्ट निर्माताओं, वितरकों और विज्ञापनकर्ताओं के लिए काम करेंगे."

कंपनी ने बयान जारी करते हुए जानकारी दी है कि समझौते का मकसद ग्राहकों को अनगिनत विकल्प, बेहतरीन क्वालिटी और अनुभव देना है.

इमेज कॉपीरइट Helen Sloan/HBO

हालांकि अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि यदि वे चुनाव जीतते हैं तो वे इस समझौते को रोकेंगे.

शनिवार को इस समझौते को दोनों बोर्डों की मंजूरी मिलने से पहले ट्रंप ने कहा था, "ये कुछ लोगों के हाथों में बहुत ज़्यादा ताक़त देने जैसा है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)