मोसुल की लड़ाई में सेना ने हिस्सा लिया: तुर्की

इमेज कॉपीरइट Reuters

तुर्की का कहना है कि उसके सुरक्षाबलों ने मोसुल के नज़दीक इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ जारी लड़ाई में हिस्सा लिया है.

हालांकि इराक़ी सरकार मोसुल की लड़ाई में तुर्की के सैनिकों की किसी भी भूमिका से इंकार करती रही है.

तुर्की के प्रधानमंत्री ने कहा है कि बाशिक़ा क़स्बे पर नियंत्रण में उनके तोपखाने ने कुर्द पेशमरगा लड़ाकों की मदद की है.

तुर्की और इराक़ के रिश्तों में तनाव रहा है और एक दिन पहले ही इराक़ ने तुर्की के मदद के प्रस्ताव को ख़ारिज कर दिया था.

कुर्द पेशमरगा लड़ाकों ने कहा है कि उन्होंने मोसुल से 12 किलोमीटर दूर स्थित बाशिका पर कब्ज़ा कर लिया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

इससे पहले इस्लामिक स्टेट के चरमपंथियों ने पश्चिमी प्रांत अनबार के रुतबा क़स्बे पर हमला किया था. इसे मोसुल की लड़ाई से ध्यान हटाने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है.

इलाक़े में मौजूद इराक़ी सेना के कमांडर का कहना है कि आईएस ने पांच आत्मघाती कार बम हमले किए लेकिन इराक़ी सेना ने स्थिति पर काबू पा लिया.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मोसुल की लड़ाई की वजह से स्थानीय लोगों का पलायन

ये घटनाक्रम ऐसे समय हुआ है जब इराक़ी और कुर्द बल उत्तरी इराक़ में मोसुल पर दोबारा नियंत्रण की कोशिश कर रहे हैं.

मोसुल इराक़ में इस्लामिक स्टेट का अब अहम ठिकाना है और इराक़ी सेना ने उस पर धावा बोला हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे