मोसुल: तुर्की और कुर्द सेना का आईएस पर हमला

इमेज कॉपीरइट Getty

कुर्द सेना ने उत्तरी इराक़ में मोसुल के नज़दीक बाशिक़ा शहर को कथित इस्लामिक स्टेट के कब्ज़े से छुड़ाने के लिए उनके ठिकानों पर ताज़ा हमले किए हैं.

कुर्द पेशमुर्ग कमांडरों के कहना है कि उन्होंने इस्लामिक स्टेट (आईएस) के इलाके में बढ़त हासिल की है और एक राजमार्ग पर कब्ज़ा कर लिया है जिसका असर इलाक़े में आईएस की गतिविधियों पर पड़ेगा.

रविवार को आईएस के विरुद्ध छिड़े इस युद्ध में तुर्की भी शामिल हो गया.

इससे पहले इराक़ी प्रधानमंत्री ने तुर्की के इसमें शामिल होने के प्रस्ताव को ठुकरा था.

बाशिक़ा को मुक्त कराने की जंग

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption बाशिक़ा शहर के एक नज़दीकी गांव से शहर पर रॉकेट से हमला करते कुर्द पेशमुर्ग लड़ाके

बाशिक़ा में कुर्द लड़ाकों ने दर्जनों आईएस लड़ाकों को मार दिया है, आठ गांवों की घेराबंदी कर ली है और मोसुल में सैन्य मदद पहुंचाने की आईएस की क्षमता को ख़त्म कर दिया है.

इराक़ में अमरीकी सेना के मुख्य कमांडर लेफ्टिनमेंट जनरल स्टीफ़न टाउनसेंड ने संवाददाताओं के बताया कि रविवार को बाशिक़ा में 'ख़ासी सफ़लता' मिली है.

लेकिन उन्होंने चेतावनी दी, "मुझे अब तक ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली जो बताती हो कि सभी घर सुरक्षित हैं, दाएश (आईएस) के सभी लड़ाके मारे गए और सड़क के किनारे के सभी बम हटाए गए."

इस शहर में अभी संवाददाताओं को जाने की अनुमति नहीं है.

इमेज कॉपीरइट AFP

पास के एक गांव से फ़िल्माए गए समाचार एजेंसी रॉयटर्स के टावी फुटेज में आईएस पर कुर्द लड़ाकों के मॉर्टार और मशीन गनों से हमले के बाद बाशिक़ा से धुंआ निकलता देखा गया.

गठबंधन सेनाएं भी मोसुल के आस-पास के इलाकों में आईएस के ठिकानों को पीछे धकेल रही हैं. पेशमुर्ग कमांडरों का कहना है कि वो शहर में 9 किलोमीटर तक आगे बढ़ चुके हैं.

तुर्की की भूमिका

तुर्की ने कहा था कि जब मोसुल को आईएस के चुंगल से छुड़ाने की कोशिशें हो रही हैं तो वो चुप नहीं रह सकते.

रविवार को इराक़ में तुर्की सेनाओं ने विद्रोहियों पर हमले किए. तुर्की ने कहा कि कुर्द लड़ाकों ने उनसे मदद मांगी थी.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अमरीकी रक्षा सचिव ऐश कार्टर से मुलाक़ात करते तुर्की के प्रधानमंत्री बिनाली यिल्दरिम

तुर्की के प्रधानमंत्री बिनाली यिल्दरिम ने कहा, "पेशमुर्ग लड़ाकों ने बाशिक़ा से आईएस को खदेड़ दिया है. उन्होंने बाशिक़ा बेस पर हमारे सैनिकों से मदद मांगी. इसलिए हम टैंकों और तोपख़ाने से उनकी मदद कर रहे हैं."

बाशिक़ा उस सैन्य अड्डे के नज़दीक है जहां तुर्की सेना अरब और कुर्द सुन्नी मुस्लिम लड़ाकों को ट्रेनिंग दे रही है.

शुक्रवार को अमरीकी रक्षा मंत्री ऐश कार्टर ने कहा था कि मोसुल को छुड़ाने के अभियान में तुर्की को भी भूमिका निभानी चाहिए.

लेकिन इराक़ी प्रधानमंत्री हैदर अल-अबादी ने इसे यह कह कर ठुकरा दिया था कि अभी इसमें तुर्की की सेना की ज़रूरत नहीं है.

अनबर पर क्यों हुआहमला?

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption अनबर में इराक़ी सरकारी सेना

मोसुल अभियान से ध्यान हटाने के लिए आईएस के लड़ाकों ने रविवार को पश्चिमी प्रांत अनबर के रुतबा शहर पर हमला किया.

इराक़ी सेना के प्रवक्ता ने बताया कि शहर में तीन आत्मघाती कार बम धमाके हुए. हालांकि उन्होंने कहा कि स्थिति "फिलहाल नियंत्रण में है".

रुतबा शहर साल 2014 में आईएस के कब्ज़े मे था. चार महीने पहले सरकार ने इसे अपने कब्ज़े में लिया था. रुतबा के मेयर का कहना है कि आईएस शहर में स्लीपर सेल की मदद से दाख़िल हुआ.

जैसे-जैसे मोसुल में और उसके आस-पास के इलाकों में आईएस पर दबाव बढ़ता जा रहा है, यह समूह दूसरे इलाकों में आत्मघाती हमले और हमले कर रहा है.

इस्लामिक स्टेट पर अमरीका की योजना?

इमेज कॉपीरइट EPA

इरबिल में कुर्दी अधिकारियों से मुलाक़ात करने पहुंचे ऐश कार्टर ने पेशमुर्ग लड़ाकों की तारीफ़ की और कहा, "वो अच्छी लड़ाई करते हैं. लेकिन चूंकि वो कठिन लड़ाई करते हैं उनके अधिक लोग मारे जाते है."

उन्होंने कहा कि अमरीका सारिया में आईएस के गढ़ रक़्क़ा में इसी तरह के अभियान के बारे में योजना तैयार कर रहा है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption रक़्क़ा में इस्लामिक स्टेट का मार्च

उन्होंने कहा कि अमरीका "जितनी जल्दी हो सके" रक़्क़ा में आईएस लड़ाकों के ठिकानों पर हमला करना चाहता है.

मोसुल में अमरीका नेतृत्व में गठबंधन सेना हवाई और सैन्य सलाहकारों के ज़रिए मदद कर रही है.

इस अभियान में क़रीब 30,000 इराक़ी सुरक्षा बल, कुर्द पेशमुर्ग लड़ाके, अरब सुन्नी क़बिलाई लोग और शिया लड़ाके शामिल हैं.

मोसुल में नागरिकों की स्थिति?

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption मोसुल में जारी लड़ाई के कारण शहर से निकले इऱाकी शरणार्थी

संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि मोसुल में हाल में चल रही लड़ाई के कारण 5,000 लोग विस्थापित हुए हैं.

शुक्रवार को मोसुल शहर के बाहरी इलाक़े में विद्रोहियों ने एक सल्फ़र फैक्ट्री में आग लगा दी. इस कारण उठे ज़हरीले धुंए के कारण अस्पतालों में क़रीब 1,000 लोगों का इलाज चल रहा है.

इमेज कॉपीरइट AFP

लड़ाई जारी रहने की सूरत में सहायता एजेंसियां 10 लाख तक लोगों के विस्थापन की उम्मीद कर रही हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे