पाकिस्तान: आतंकवाद से संबंधित 4,000 अकाउंट फ्रीज़

पाकिस्तान के सेंट्रल बैंक का कहना है कि मुल्क भर में दहशतगर्दी के मामलों में लगे 4,000 से ज़्यादा बैंक अकाउंट सस्पेंड कर दिए गए हैं.

'स्टेट बैंक ऑफ़ पाकिस्तान' के प्रवक्ता आबिद क़मर ने बीबीसी को बताया कि आतंकवादी गतिविधियों पर नज़र रखनेवाली संस्था नेक्टा की तरफ़ से मुहैया करवाई गई सूची के मुताबिक़ उन लोगों के अकाउंट फ़्रीज़ किए गए हैं जिनके नाम आतंकवादी गतिविधि क़ानून 1997 की चौथी सूची में शामिल है.

आबिद क़मर ने बताया कि नेक्टा की ओर से स्टेट बैंक को खाते फ़्रीज़ करने से संबंधित अब तक चार सूची मिली है, जिन्हें कमर्शियल बैंकों को दिया गया है.

उन्होंने बताया कि बैंकों से इन खातों में जमा रक़म के बारे में जानकारी मांगी गई है.

सितंबर में सेंट्रल बैंक ने एक हुक्म जारी किया था. जिसमें तमाम बैंकों, डेवलपमेंट फाइनेंस इंस्टीट्यूशंस और माइक्रो फाइनेंस बैंकों को हिदायत दी गई थी कि वो उन लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करें जिनके नाम नेशनल काउंटर टेररिज़्म अथॉरिटी के ज़रिये जारी सूची में हो.

पाकिस्तान में पिछले साल इस तरह के 126 बैंक खाते फ्रीज़ किए थे जिसमें एक अरब रूपये से अधिक की रक़म जमा थी.