'अफ़ग़ान जंग की मोनालिसा' पाक में पकड़ी गई

इमेज कॉपीरइट HUFFINGTON POST

पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) ने नेशनल ज्योग्राफिक के कवर से मशहूर हुईं अफ़ग़ान महिला शरबत गुला को पाकिस्तान का नकली पहचान पत्र बनवाने के आरोप में गिरफ्तार किया है.

एफआईए के सूत्रों ने बीबीसी को बताया कि शरबत गुला को गिरफ्तार कर लिया गया है लेकिन उनके परिवार के अन्य सदस्य भाग गए हैं.

एफआईए सूत्रों का कहना है कि शरबत गुला एक अफ़ग़ान नागरिक हैं जिन्होंने अपना और अपने परिवार का फ़र्ज़ी पहचान पत्र बनवाया.

एफआईए सूत्रों का कहना है कि उनके ख़िलाफ़ दो साल पहले जांच शुरु की गई थी, लेकिन अब सबूत मिलने के बाद कार्रवाई की गई है.

शरबत गुला वर्ष 1984 में अफ़ग़ान युद्ध के दौरान अपने परिवार के साथ पाकिस्तान आई थीं और शरणार्थियों के बनाए शिविर में ही रुक गई थीं.

इमेज कॉपीरइट DPA

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उन्हें ख्याति तब मिली जब नेशनल ज्योग्राफिक ने जून 1985 में अपने कवर पर उनकी तस्वीर छापी थी. तब वे 12 साल की थीं.

इस तस्वीर के छपने के बाद शर्बत गुला वर्ष 2002 तक एक तरह से गुमनामी में रहीं, लेकिन जिस फोटोग्राफर ने 1985 में उनकी तस्वीर खींची थी, उसी फोटोग्राफर ने उन्हें 2002 में पहचान लिया.

अपनी हरी आंखों के कारण शरबत गुला पर साल 2002 में नेशनल ज्योग्राफिक चैनल ने डॉक्यूमेंट्री बनाई थी जिसके बाद वे अफ़ग़ान युद्ध मोनालिसा के नाम से मशहूर हो गई थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)