स्टीव मैक्करी मदद करेंगे शरबत गुला की

इमेज कॉपीरइट AFP

जाने माने फोटोग्राफर स्टीव मैक्करी ने कहा है कि वो शर्बत गुला की हरसंभव मदद करेंगे.

शर्बत गुला अफगानिस्तान की वो शरणार्थी लड़की है जिसकी तस्वीर नेशनल ज्योग्राफिक के कवर पेज़ पर 1985 में छपी थी जिसने पूरी दुनिया का ध्यान आकर्षित किया था.

शरबत की यह तस्वीर स्टीव मैक्करी ने ही खींची थी.

शर्बत गुला को पिछले दिनों पाकिस्तान में नकली पहचान पत्र बनवाने के आरोप में हिरासत में लिया गया है.

स्टीव ने अपने इंस्टाग्राम पन्ने पर शरबत गुला को हिरासत में लिए जाने पर टिप्पणी करते हुए कहा है कि वो शरबत की हरसंभव मदद करेंगे.

उनका कहना था, ''हम उस इलाके में अपने मित्रों से संपर्क में हैं और हरसंभव कोशिश कर रहे हैं. मैं शरबत और उसके परिवार को हर तरह की कानूनी और वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध हूं. ''

वो आगे लिखते हैं "मैं कड़े शब्दों में अधिकारियों द्वारा इस कार्रवाई पर आपत्ति दर्ज करता हूं. शर्बत ने अपनी पूरी जिंदगी परेशानियों में ही गुजारी है."

इमेज कॉपीरइट HUFFINGTON POST

पाकिस्तान ने हाल ही में फर्जी पहचान पत्रों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की है.

पाकिस्तान में हज़ारों की संख्या में अफगानिस्तान से आए शरणार्थी रह रहे हैं.

पाकिस्तानी अधिकारियों के अनुसार शरबत गुला ने कथित तौर पर शर्बती बीबी के नाम से अप्रैल 2014 को पहचान पत्र के लिए आवेदन किया था.

उस समय गुला अफ़गान के गांव में अपने पति और तीन बेटियों के साथ रहती थी.

इमेज कॉपीरइट AFP

उसके बाद वापस आकर वो पाकिस्तान में अफ़गान ब़ॉर्डर के करीब पेशावर में रहने लगी

अधिकारियों का कहना है कि पिछले दिनों पाकिस्तान सरकार ने फर्जी पहचान पत्र बना कर पाकिस्तान में रह रहे विदेशियों के खिलाफ अभियान चलाया है. इस अभियान में 60,675 फर्जी पहचान पत्र के साथ लोगो को पकड़ा भी है.

हाल ही में संयुक्त राष्ट्र संघ के आंकड़ों से पता चला है कि पाकिस्तान में लगभग 14 लाख पंजीकृत अफ़गानी नागरिक शरण लिए हुए है. जबकि 10 लाख शरणार्थियों ने अपना पंजीकरण नहीं कराया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)