क्लिंटन के ई-मेल की एफ़बीआई जांच फिर से शुरु

इमेज कॉपीरइट AP

एफ़बीआई डायरेक्टर जेम्स कोमे ने अमरीकी संसद को सूचना दी है कि एजेंसी हिलेरी क्लिंटन के ई-मेल की जांच फिर से शुरु कर रही है.

जेम्स कोमे ने सांसदों को भेजी गई एक चिट्ठी में कहा है कि जांचकर्ताओं के हाथ कुछ ऐसे ई-मेल लगे हैं जो पूरे मामले में अहम हैं.

उन्होंने कहा कि जांच एजेंसी ये सुनिश्चित करने की कोशिश करेगी कि क्या ई-मेल में कुछ गोपनीय जानकारियां मौजूद थीं.

एफ़बीआई ने पहले ही कहा था कि डेमोक्रटिक उम्मीदवार के व्यक्तिगत सर्वर पर गोपनीय जानकारियां मौजूद थीं.

कोमे ने पहले कहा था कि हिलेरी क्लिंटन ने उन ई-मेल का जिस तरह इस्तेमाल किया था वो बहुत ग़ैर-ज़िम्मेदाराना था लेकिन उन्होंने पूर्व विदेश मंत्री के इस मामले को आपराधिक नहीं बताया था.

जांच एजेंसी के डायरेक्टर ने कहा कि उन्हें नहीं मालूम कि इस जांच को पूरा होने में कितना वक़्त लग जाएगा.

हालांकि इस जांच को लेकर हिलेरी काफी आश्वस्त हैं कि इस नई जांच के परिणाम भी पुरानी जांच जैसे ही होंगे.

हिलेरी क्लिंटन ने इस मामले के दोबारा उठाए जाने पर कहा कि उन्हें इस बात को लेकर कोई शंका नहीं कि यह जांच भी उसी नतीजे पर पहुंचेगी जिस नतीजे पर एफबीआर्इ् की जांच जुलाई में पहुंची थी.

वॉशिंगटन से बीबीसी संवाददाता का कहना है कि इस पूरे मामले का चुनाव पर भारी असर पड़ सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)