ईमेल मामले की फिर से जाँच क्यों: हिलेरी

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए डेमोक्रैटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने जांच एजेंसी फ़ेडरल ब्यूरो ऑफ़ इनवेस्टिगेशन से कहा है कि वह बिना देरी किए बताए कि वह ईमेल मामले की नए सिरे से जाँच क्यों कर रही है.

एफ़बीआई ने कहा है कि उसे क्लिंटन के विदेश मंत्री रहते हुए निजी सर्वर से किए गए नए ई-मेल मिले हैं.

हिलेरी ने कहा, "अमरीकियों को तत्काल विस्तार से पूरे तथ्य जानने का हक़ है."

रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनल्ड ट्रप का कहना है कि चुनाव के 11 दिन पहले उठाया गया यह क़दम वॉटरगेट कांड के बाद अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक स्कैंडल है.

अमरीका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए 8 नवंबर को मतदान होना है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हिलेरी क्लिंटन की सहयोगी हुमा आबेदीन के अलग हुए पति से जुड़ी एक जांच के दौरान ये ई-मेल पाए गए थे.

जांच इस बात की हो रही थी कि क्या आबेदीन के पति ने उत्तर कैरोलाइना में रहने वाली 15 साल की लड़की को अश्लील ईमेल भेजे थे.

एफ़बीआई निदेशक जेम्स कोमे ने शुक्रवार को कांग्रेस को लिखी एक चिट्ठी में नए ईमेल मिलने की जानकारी दी थी.

कोमे ने कहा कि वे नए मामले की पूरी अहमियत नहीं जानते, पर एफ़बीआई इसकी जांच करेगी कि क्या ई-मेल में वर्गीकृत ख़ुफ़िया जानकारियां थीं.

इमेज कॉपीरइट AP

क्लिंटन ने कहा है कि उन्हें विश्वास है कि ईमेल से जुड़ी नई जाँच से एफ़बीआई के उस निष्कर्ष में कोई बदलाव नहीं होगा, जिस पर वो जुलाई में पहुँची थी.

एफ़बीआई ने तय किया है कि 2009 से 2013 तक विदेश मंत्री रहते हुए निजी सर्वर से ईमेल भेजने के लिए हिलेरी क्लिंटन पर मुक़दमा नहीं चलाया जाएगा.

डोनल्ड ट्रंप ने आयोवा में एक रैली में कहा, "हर शख़्स को न्याय की उम्मीद है."

उन्होंने कहा, "गंभीर आपराधिक मामला नहीं होने पर एफ़बीआई ने इस समय यह मुद्दा फिर से नहीं उठाया होता."

ट्रंप ने इसकी तुलना 1970 के दशक के दौरान हुए वॉटरगेट कांड से की. उस कांड की वजह से रिपब्लिकन राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन को अपना पद गंवाना पड़ा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार