तीन माह में चार भूकंप, इटली सहमा-सहमा सा

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption रविवार को आए भूकंप में ये मध्यकालीन बासीलीक तबाह हो गया.

तीन महीने के अंदर भूकंप का चौथा बड़ा झटका झेलने वाले मध्य इटली के इलाकों में हजारों लोग रातें कारों, टैंट्स और अस्थाई आवासों में बिता रहे हैं. भूकंप से इन इलाकों में जनजीवन बुरी तरह प्रभावित है.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption दो महीने पहले तीन सौ लोगों की जान ले चुके भूकंप के दो महीने बाद उसी इलाके में ये भूकंप आया है

हालांकि रविवार को आए 6.6 तीव्रता के इस भूकंप में किसी के मारे जाने की सूचना नहीं है.

भूकंप के बाद आने वाले झटकों से इमारतों का गिरना जारी है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption इटली में भूकंप से प्रभावित इलाकों में स्थानीय निवासी अस्थाई आवासों में रात बिता रहे हैं.

भूकंप से क़रीब बीस लोग घायल हुए हैं और इमारतों को नुक़सान हुआ है.

ये भूकंप उस इलाक़े के पास आया है जहां अगस्त में आए भूकंप में क़रीब तीन सौ लोग मारे गए थे.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption इटली में भूकंप से प्रभावित इलाकों में इलेक्ट्रिक हीटर ले जाए गए हैं.

नोरचा में संत बेनेडिक्ट के मध्यकालीन बिसिलिका समेत कई इमारतों को नुक़सान पहुंचा है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption भूकंप प्रभावित इलाके के राष्ट्रपति ने कहा कि लगभग एक लाख लोगों को मदद की जरूरत होगी

ताज़ा भूकंप के झटके राजधानी रोम में भी महसूस किए गए हैं जहां मेट्रो को रोक देना पड़ा.

यही नहीं उत्तरी शहर वेनिस में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption रविवार को आए भूकंप में बीस लोग घायल हुए हैं.

राष्ट्रीय नागरिक सुरक्षा एजेंसी के प्रमुख फ़ेबरीत्सियो कूर्चो के मुताबिक़ भूकंप में किसी की मौत की सूचना नहीं है लेकिन कई ऐतिहासिक इमारतों को भारी नुक़सान हुआ है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption नोरचा शहर में आपातकालीन सेवा के कर्मचारी राहत और बचाव के कार्यों में लगे हैं.

उन्होंने बताया, "बीस लोग घायल हुए हैं, ऐतिहासिक इमारतों को नुक़सान पहुँचा है और पानी और बिजली आपूर्ति प्रभावित हुई है."

उन्होंने कहा, "हम मुश्किल वक़्त से गुज़र रहे हैं. जिस गहरे दर्द, तनाव और थकान से हम गुज़र रहे हैं उसे हमें ख़ुद पर हावी नहीं होने देना है."

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption भूकंप प्रभावित इलाकों में इमारतें पूरी तरह से नष्ट हो गई और कई इमारतों को काफ़ी नुकसान पहुंचा है.

पोप फ्रांसिस ने भी रविवार को अपनी प्रार्थना में भूकंप का ज़िक्र किया.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption शहर नोरचा में के निवासी स्थानीय समयानुसार 7:40 पर आए भूकंप से डर कर लोग घरों से बाहर निकल आए

सैंट बेनेडिक्ट का जन्मस्थान माना जाने वाले नोरचा शहर में उनके नाम पर बना बिसिलिका पूरी तरह बर्बाद हो गया है और सिर्फ़ बाहरी दीवार ही खड़ी रह गई है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption इटली के रीएटी में भूकंप के बाद खाली कराए गए अस्पताल में मरीज

शहर के डिप्टी मेयर के मुताबिक़ तबाही ऐसी है जैसे बम फटा हो.

भूकंप से नोरचावासी सदमें और तनाव में हैं. अगस्त में आए पहले भूकंप के बाद से ही स्टेफ़ानो और उनका परिवार कैंप वैन में रात गुज़ार रहा है.

वो अब परिवार को कहीं और ले जाने की सोच रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption इटली में हाल के सालों में कई बड़े भूकंप आए हैं.

शहर के एक कार पार्किंग स्थल पर आपात सेवा मुख्यालय बनाया गया है जहां नागरिक सुरक्षा से जुड़े अधिकारी भूकंप से हुए नुक़सान का जायज़ा ले रहे हैं.

कुछ लोग और भूकंप आने की आशंका के डर से शहर तक छोड़ने की तैयारी कर रहे हैं.

आसपास के कई क़स्बों और शहरों में भी इमारतों को भारी नुक़सान हुआ है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption भूकंप से प्रभावित ऐतिहासिक स्थलों में चौदहवीं शताब्दी का सेंट बेनेडिक्ट कैथे़ड्रल (बड़ा चर्च ) भी है.

हाल के सालों में मध्य इटली में कई बड़े भूकंप आए हैं. 2009 में आए भूकंप ने ला अकीला शहर को बर्बाद कर दिया था.

इसी साल अगस्त में आए भूकंप में तीन सौ के क़रीब लोग मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)