आख़िर हिलेरी से इतनी नफ़रत क्यों?

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में शायद ऐसा पहली बार हुआ होगा कि जनता दोनों ही प्रमुख उम्मीदवारों को इतना नापसंद करती हो. अपने बेहूदा बयानों के लिए बदनाम डोनल्ड ट्रंप को लेकर पब्लिक की नापसंदगी तो समझ में आती है. मगर शानदार सियासी करियर वाली हिलेरी क्लिंटन से भी एक तबका इतनी नफ़रत करता है कि उन्हें गालियां देता है.

आख़िर इसकी क्या वजह है?

अमरीका के जॉर्जिया सूबे की एमिली लॉन्गवर्थ को ही लीजिए. उनका बचपन ऐसे घर में बीता है जहां उनके पिता और दादा दोनों ही कट्टरपंथी विचारों वाले थे. राजनीति, एमिली में कूट-कूटकर भरी है.

हिलेरी क्लिंटन का नाम आते ही, एमिली आपा खो बैठती हैं. वो हिलेरी को झूठी, मतलबी, इस्तेमाल करने वाली और सनकी महिला, सब कुछ एक सांस में कह डालती हैं. एमिली कहती हैं कि हिलेरी को तो उम्रक़ैद की सज़ा होनी चाहिए.

इमेज कॉपीरइट Reuters

एमिली, फ़ेसबुक और यू-ट्यूब पर हिलेरी क्लिंटन को जी भरकर गालियां देती हैं. उन्हें पढ़ने और देखने वालों की तादाद हज़ारों में है.

यू-ट्यूब पर एक वीडियो में एमिली, हिलेरी और उनके समर्थकों को कट्टर नाज़ी कहती हैं. वो अफ़सोस जताती हैं कि उन्हें हिलेरी क्लिंटन जैसी महिला की बयानबाज़ी रोज़ झेलनी पड़ती है.

बहुत से अमरीकियों को हिलेरी के किरदार से शिकायतें हैं. वो भी कई मामलों में. यही वजह है कि उनकी रेटिंग करने वालों में पचास फ़ीसदी उन्हें नापसंद करते हैं.

भले ही, ज़्यादातर लोग हिलेरी के बारे में वैसी ज़ुबान ना इस्तेमाल करें जैसी एमिली करती हैं. मगर उन्हें हिलेरी से कई शिकायतें हैं.

तभी तो, डोनल्ड ट्रंप की रैलियों में कई लोग, हिलेरी क्लिंटन को जेल भेजने की मांग करने वाली तख़्तियां लिए हुए आते हैं. बहुत से ट्रंप समर्थक उन्हें खुलकर गालियां देते हैं. 'चुड़ैल' तक कहने से बाज़ नहीं आते. कई तो उन्हें 'शैतान की नौकरानी' करार देते हैं. सोशल मीडिया पर उनके ख़िलाफ़ मुहिम चलाई जाती है.

इमेज कॉपीरइट AFP

यूं तो डोनल्ड ट्रंप को भी सनकी और हिटलर कहा जाता है.

अमरीका की राजनीति पर नज़र रखने वाली जेनिफ़र मर्सिका कहती हैं कि उन्होंने अपने करियर में पहली बार राष्ट्रपति चुनाव में इतनी गंदी ज़बान का इस्तेमाल होते देखा है. दोनों उम्मीदवारों के किरदार को लेकर सवाल खड़े किए जाते हैं.

जेनिफर कहती हैं कि हिलेरी को तो उनके महिला होने की वजह से भी निशाना बनाया जाता है. हालांकि ट्रंप को इसमें रियायत मिल जाती है.

हिलेरी क्लिंटन पर ज़्यादातर हमले, उनके पति बिल क्लिंटन के अफेयर्स को लेकर होते हैं. ख़ास तौर से हिलेरी पर बिल से रिश्ते रखने वाली महिलाओं को बदनाम करने की कोशिशों पर सवाल उठते हैं.

अभी हाल ही में सामने आई डॉक्यूमेंट्री 'हिलेरीज़ अमरीका' में लेखक दिनेश डिसूज़ा ने तो यहां तक कह दिया कि हिलेरी ने अपनी पति को दूसरी महिलाओं के साथ सोने का हौसला दिया.

डोनल्ड ट्रंप के बारे में तो ये कहा जाता है कि वो जान-बूझकर विवाद खड़े करते हैं ताकि ओबामा और क्लिंटन के मुक़ाबले लोग उनकी तरफ झुकें. जैसे कि ट्रंप ने एक रैली में कहा कि ओबामा मुसलमान हैं. वहीं दूसरी रैली में हिलेरी को शैतान कह दिया.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption डोनल्ड ट्रंप की रैलियों में कई लोग हिलेरी क्लिंटन को जेल भेजने की मांग करने वाली तख़्तियां लिए हुए आते हैं.

हिलेरी से नफ़रत करने वाले तमाम लोगों में से एक हैं टेक्सास के रेडियो जॉकी एलेक्स जोंस. एलेक्स के मुताबिक़ 9/11 के हमले और बोस्टन में मैराथन के दौरान बमबारी, ख़ुद अमरीकी सरकार की साज़िश थी.

अपने रेडियो शो, ''द एलेक्स जोंस शो'' में वो खुलकर हिलेरी को गालियां देते हैं. उन्हें शैतान और चुड़ैल कहते हैं.

डेमोक्रेटिक पार्टी के सम्मेलन के दौरान, एलेक्स जोंस ने हिलेरी का भरपूर मज़ाक़ उड़ाया.

इसी शो के दौरान एलेक्स ने हिलेरी क्लिंटन की हंसी की तुलना लकड़बग्घे से कर डाली. इस वीडियो को ऑनलाइन भी पोस्ट कर दिया गया था. हालांकि शिकायत के बाद इसे हटा दिया गया.

हिलेरी से लोगों को जो प्रमुख शिकायतें हैं, वो लीबिया के बेनग़ाज़ी में अमरीकी दूतावास पर आतंकी हमले को लेकर हैं.

इसके अलावा हिलेरी पर इल्ज़ाम है कि उन्होंने विदेश मंत्री रहते हुए सरकारी काम के लिए निजी ई-मेल का इस्तेमाल किया.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption एलेक्स जोंस अपने रेडियो शो 'द एलेक्स जोंस शो' में खुलकर हिलेरी को गालियां देते हैं.

साथ ही ट्रंप का इल्ज़ाम है कि बिल क्लिंटन का क्लिंटन फाउंडेशन रईसों के साथ रिश्ते रखकर तमाम अनैतिक काम करता है. ख़ास तौर से विदेशी नागरिकों के साथ क्लिंटन फाउंडेशन के संबंध पर सवाल खड़े होते रहे हैं.

हिलेरी के पति बिल क्लिंटन के दूसरी महिलाओ से रिश्तों ने भी हिलेरी की राह में रोड़े खड़े किए हैं.

कुल मिलाकर, इस बार के अमरीकी राष्ट्रपति चुनावों ने वहां की राजनीति का स्तर काफ़ी गिरा दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे