200 शरणार्थियों की मौत की आशंका

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption इन नावों में उनकी क्षमता से अधिक लोग सवार होते हैं

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी के अनुसार लीबिया के पास समुद्र तट में दो जहाज़ों के डूब जाने से कम से कम 200 शरणार्थियों के डूब जाने की आशंका है.

शरणार्थी एजेंसी की प्रवक्ता कारलोटा सामी ने बताया है कि ये समाचार उन लोगों ने दिया है जिन्हें समुद्र से बचाकर इटली के लैम्पेडुसा द्वीप लाया गया है.

समुद्र से 12 शव निकाले जा चुके हैं.

आव्रजन मामलों के अंतरराष्ट्रीय संगठन के प्रवक्ता लियोनार्ड डॉयल का कहना है कि इस वर्ष मेडिटेरियन समुद्र पार करने की कोशिश में कम से कम 4200 शरणार्थी मारे जा चुके हैं.

सयुंक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि वर्ष 2016 शरणार्थियों की इस यात्रा के लिए सबसे खतरनाक वर्ष हो सकता है.

वर्ष 2015 में करीब दस लाख शरणार्थी ये समुद्र पार कर के यूरोपीय देशों में आए थे. इस वर्ष अब तक करीब तीन लाख तीस हज़ार लोग ये समुद्र पार कर चुके हैं.

जहाज़ों के नष्ट होने की ताज़ा घटना में अधिकतर शरणार्थी पश्चिम अफ्रीका के थे.

कारलोटा सामी के अनुसार ये अत्यंत छोटे छोटे जहाज़ थे. रिपोर्टों के अनुसार एक जहाज़ में करीब 140 लोग थे जिसमें छह बच्चे और 20 महिलाएं थी जो लीबिया के समुद्र तट से 40 किलोमीटर के बाद डूब गया. इसमें से केवल 29 लोग बचाए जा सकें.

एक अन्य जहाज़ के डूबने के बाद बच कर आई दो महिलाओं ने राहतकर्मियों को बताया कि उनके जहाज़ में 128 लोग सवार थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)