अमरीकी चुनाव में बाजी मारने वाले भारतीय

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption कमला हैरिस

अमरीका में राष्ट्रपति चुनाव के साथ-साथ हुए संसदीय चुनाव में भारतीय मूल के तीन प्रतिनिधि भी चुनाव जीतने में कामयाब रहे. कौन हैं ये भारतीय और कहां से चुनाव जीतने में कामयाब रहे, इनपर एक नज़र.

कैलिफ़ोर्निया से चुनाव जीतने में कामयाब हुई हैं, स्टेट अटार्नी जनरल कमला हैरिस. समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस के मुताबिक़ कमला हैरिस सीनेट में कैलिफ़ोर्निया का प्रतिनिधित्व करने वाली पहली अश्वेत नेता हैं.

अमरीकी संसद के ऊपरी सदन के लिए चुनी गईं कमला हैरिस 51 साल की है. उन्होंने डेमोक्रेट उम्मीदवार लोरेटा सांचेज को 34.8 प्रतिशत प्वाइंट मार्जिन से हराया है. उन्हें बराक ओबामा का समर्थन हासिल था.

हैरिस का जन्म ऑकलैंड में हुआ था. उनकी मां भारतीय मूल की थीं, जो चेन्नई से ऑकलैंड आई थीं. कमला की मां श्यामला गोपालन हैरिस कैंसर स्पेशलिस्ट डॉक्टर थीं, जबकि उनके जमैकाई मूल के अमरीकी पिता डोनल्ड हैरिस स्टैनफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में प्रोफ़ेसर थे.

इमेज कॉपीरइट AP

सीनेटर बनने से पहले कमला हैरिस 2011 से अटार्नी जनरल के पद पर काम कर रही हैं.

उन्होंने हारवर्ड और कैलिफ़ोर्निया यूनिवर्सिटी से अपनी पढ़ाई की है. इसके बाद उन्होंने वकालत की ओर रूख़ किया, इसके बाद राजनीति की ओर क़दम बढ़ाए.

बीते दो दशक में वे अमरीकी सीनेट तक पहुंचने वाली पहली अश्वेत हैं.

कमला हैरिस के अलावा प्रमिला जयपाल, रोहित खन्ना और राज कृष्णमूर्ति हाउस ऑफ़ रिप्रेंजटेटिव का चुनाव जीतने में कामयाब रहे.

इमेज कॉपीरइट Pramila Jaypal Twitter
Image caption प्रमिला जयपाल

डेमोक्रेटिक पार्टी की 51 वर्षीय प्रमिला जयपाल ने वाशिंगटन से रिपब्लिकन पार्टी की ब्रैडी वाल्किनशॉ को हराया.

जयपाल का जन्म चेन्नई में हुआ है और वे 16 साल की उम्र में अपनी पढ़ाई करने के लिए अमरीका पंहुची थीं. साल 2000 में उन्होंने अमरीकी नागरिकता हासिल की.

40 साल के रोहित खन्ना डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से माइक होंडा को हराकर हाउस ऑफ़ रिप्रेजेंटेटिव पहुंचे.

इमेज कॉपीरइट http://www.rokhanna.com
Image caption रोहित खन्ना

रोहित खन्ना के माता-पिता पंजाब से फ़िलाडेलफ़िया पहुंचे. वे ओबामा प्रशासन में पूर्व अधिकारी रहे हैं. रोहित खन्ना स्टैंडफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र के प्रोफ़ेसर हैं.

इमेज कॉपीरइट http://www.rokhanna.com

इनके अलावा 43 साल के राज कृष्णमूर्ति रिपब्लिक पार्टी के उम्मीदवार पीटर डिकिनानी को हराकर हाउस ऑफ़ रिप्रेंजटेटिव के सदस्य चुने गए हैं.

इमेज कॉपीरइट twitter.com/RajaForCongress
Image caption राज कृष्णमूर्ति

1973 में दिल्ली में जन्मे राज कृष्णमूर्ति के माता-पिता तब न्यूयार्क में जाकर बस गए थे, जब राज महज़ तीन महीने के थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)