ट्रंप के निशाने पर 30 लाख अवैध प्रवासी

इमेज कॉपीरइट ZACH GIBSON

अमरीका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि शुरुआत में तीस लाख अवैध प्रवासियों को निर्वासित किया जाएगा या फिर उन्हें जेल में डाला जाएगा.

अमरीकी चैनल 'सीबीएस' के साथ साक्षात्कार में ट्रंप ने कहा है कि कार्रवाई आपराधिक रिकॉर्ड वाले प्रवासियों के ख़िलाफ़ होगी. मसलन गैंग के सदस्यों और ड्रग डीलरों के ख़िलाफ़ कार्रवाई होगी.

ट्रंप ने चुनाव के दौरान मैक्सिको से लगती सीमा पर दीवार बनाने का वादा किया था. उन्होंने कहा कि वो इस वादे पर क़ायम हैं. लेकिन दीवार के साथ बाड़ भी लगाई जा सकती है.

ट्रंप ने सीबीएस को दिए साक्षात्कार में कहा, "जो अपराधी हैं और जिनके आपराधिक रिकॉर्ड हैं, गैंग के सदस्य हैं, ड्रग डीलर हैं, हम उनका पता लगाएंगे. ऐसे बहुत से लोग हैं. संभावना है कि ऐसे बीस लाख लोग हैं. इनकी संख्या तीस लाख भी हो सकती है. हम उन्हें देश से बाहर निकालेंगे या फिर उन्हें जेल में डाला जाएगा."

अमरीका में बीते मंगलवार को हुए राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार ट्रंप ने डेमोक्रेटिक पार्टी की हिलेरी क्लिंटन पर जीत दर्ज की थी.

ट्रंप 20 जनवरी को कार्यभार संभालेंगे. अमरीकी कांग्रेस के दोनों सदनों पर भी रिपब्लिकन पार्टी का बहुमत है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीका में क़रीब 1 करोड़ 10 लाख प्रवासी ऐसे हैं जो बिना दस्तावेज़ के रह रहे हैं. इनमें से मैक्सिको से आए लोगों की बड़ी संख्या है.

ट्रंप ने चुनाव अभियान के दौरान कहा था कि राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल के दौरान शुरु की गई माफ़ी योजना को ख़त्म करेंगे और अप्रवासन क़ानूनों को सख़्ती से लागू करेंगे. उन्होंने कहा था कि जिन लोगों के पास वैध दस्तावेज़ नहीं हैं, उन्हें निर्वासित किया जाएगा.

मैक्सिको की सीमा के बारे में उनकी योजना के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने कहा, ''कुछ हिस्सों में दीवार ज़्यादा उपयुक्त होगी लेकिन कुछ जगह बाड़ लगाई जा सकती है."

ट्रंप ने ये भी कहा कि सीमा सुरक्षित होने के बाद वैध दस्तावेज़ों के बिना रहने वाले बाक़ी प्रवासियों के बारे में आकलन किया जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)