ट्रंप में मुझे पूरा भरोसा है: शिंज़ो आबे

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption जापानी पीएम शिंज़ो आबे ट्रंप से मिले

जापानी प्रधानमंत्री शिंज़ो आबे ने कहा है कि उन्हें अमरीका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप में पूरा भरोसा है. उन्होंने यह भी कहा कि ट्रंप दोनों देशों के बीच भरोसे का संबंध कायम कर सकते हैं.

शिंज़ो आबे ने ट्रंप से न्यूयॉर्क के ट्रंप टावर में 90 मिनट तक मुलाक़ात की. उन्होंने इस मीटिंग को गर्मजोशी से भरी मुलाक़ात बताया.

शिंज़ो आबे ने नव-निर्वाचित राष्ट्रपति को बधाई दी .

ट्रंप के साथ मुलाक़ात के बाद उन्होंने कहा, ''हम दोनों खुले दिल से बात करने में सक्षम हैं. हमने बेहद गर्मजोशी वाले माहौल में बात की.''

इमेज कॉपीरइट AFP

आबे ने कहा, ''मेरा मानना है कि दोनों देशों के बीच बिना भरोसे के संबंध प्रभावशाली साबित नहीं होंगे. आज की बातचीत से साफ है कि ट्रंप वैसे नेता हैं जिन पर पूरा भरोसा किया जा सकता है.''

डोनल्ड ट्रंप के आलोचकों ने आशंका जताई थी कि उनका चुना जाना अमरीका और उसके सहयोगी देशों के संबंध के लिए ठीक नहीं होगा.

अमरीका और जापान लंबे वक्त से एक दूसरे के सहयोगी रहे हैं.

ट्रंप के राष्ट्रपति चुनाव जीतने के बाद शिंज़ो आबे पहले विदेशी नेता हैं जिनसे उनकी मुलाक़त हुई.

दूसरे विश्व युद्ध के बाद से अमरीका और जापान बेहद ख़ास सहयोगी रहे हैं.

1945 के बाद से अमरीका ने जापान की अर्थव्यवस्था को फिर से खड़ा करने में मदद की थी.

इमेज कॉपीरइट REUTERS
Image caption ट्रंप से मीटिंग के बाद पत्रकारों से बात करते आबे

ट्रंप ने ट्रांस-पेसिफिक पार्टनरशिप ट्रेड डील रद्द करने की बात कही थी. आबे इस डील को चीन की बढ़ती आर्थिक ताकत से मुक़ाबला करने के रूप में देखते हैं.

इस डील को जापानी संसद से मंजूरी मिली है. हालांकि आशंका है कि ट्रंप ऑफिस संभालते ही इस समझौते को रद्द कर देंगे.

ट्रंप ने ख़ुद भी कहा है कि जापान अपनी ज़मीन पर अमरीकी सैनिकों को और सुविधा दे. इसके साथ ही ट्रंप ने यह भी कहा था कि उत्तर कोरियाई मिसाइल का सामना करने के लिए जापान और दक्षिण कोरिया अपने परमाणु हथियार ख़ुद विकसित करें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)